स्पोर्ट्स

स्पोर्ट्स

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

मुंबई। आईपीएल 2019 में रविवार को वानखेड़े स्टेडियम में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ गेंदबाजी के फॉलो-थ्रू में शॉट रोकने की कोशिश में जसप्रीम बुमराह का बायां कंधा चोटिल हो गया। हालांकि, मुंबई इंडियंस के टीम मैनेजमेंट का कहना है कि चिंता की कोई बात नहीं है। बुमराह की चोट तेजी से ठीक हो रही है। सोमवार को उनकी स्थिति का आकलन किया जाएगा।

मुंबई की पारी में बुमराह बल्लेबाजी के लिए नहीं आ पाए थे, जिसकी वजह से सबका चिंतित होना ज़ाहिर है। लेकिन बाद में पता चला कि टीम मैनेजमेंट ने बुमराह की फिटनेस को लेकर रिस्क नहीं लेना चाहती थी इसलिए उन्हें बल्लेबाज़ी के लिए नहीं उतारा। आपको बता दें कि बुमराह विश्व कप के लिए भारतीय टीम का एक अहम हिस्सा हैं।

मैच के दौरान बुमराह के चोटिल होने के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और टीम प्रबंधन काफी चिंतित हो गए थे। यहां तक कि टीम इंडिया के फिजियो पैट्रिक फरहार्ट ने बुमराह की स्थिति की जांच करने के लिए सोमवार सुबह मुंबई के फिजियो नितिन पटेल से संपर्क भी किया। टीम इंडिया को मई में वर्ल्ड कप के लिए इंग्लैंड रवाना होना है और टीम के लिए बुमराह की फिटनेस बेहद मायने रखती है।

स्पोर्ट्स

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने एस. श्रीसंत पर लगा आजीवन प्रतिबंध हटा दिया। शुक्रवार को कोर्ट ने बीसीसीआई से भारतीय क्रिकेटर श्रीसंत की सजा पर पुनर्विचार करने के लिए कहा। बता दें कि श्रीसंत को अजीत चंदीला और अंकित चौहान के साथ 2013 में आईपीएल के दौरान स्पॉट फिक्सिंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। पुलिस जांच में उन्हें क्लीन चिट मिल गई थी। लेकिन बीसीसीआई ने श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था। इसके खिलाफ श्रीसंत ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी।

सुप्रीम कोर्ट ने तेज गेंदबाज को राहत देते हुए उन पर लगा आजीवन प्रतिबंध हटा दिया और अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली पीठ ने बीसीसीआई से श्रीसंथ को दिए सजा पर पुनर्विचार करने के लिए कहा है। इससे पहले बीसीसीआई ने कोर्ट में कहा था कि श्रीसंत पर भ्रष्टाचार, सट्टेबाजी और खेल को बेइज्जत करने के आरोप हैं। श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध खत्म हो गया है लेकिन वो अभी खेल नहीं पाएंगे। अदालत ने कहा कि बीसीसीआई श्रीसंत का भी पक्ष सुने। हालांकि शीर्ष अदालत ने श्रीसंत को अभी भी मैच फिक्सिंग का दोषी माना है।

फैसले के बाद श्रीसंत खुद मीडिया के सामने आए और उन्होंने वकीलों का शुक्रिया अदा किया और कहा कि मैदान पर वापसी के लिए मैं पूरी तरह से तैयार हूं। वहीं उन्होंने ये भी कहा कि अगर लिएंडर पेस 45 साल की उम्र में ग्रैंडस्लैम खेल सकते हैं तो मैं भी क्रिकेट खेल सकता हूं। सीओेए प्रमुख विनोद राय ने कहा कि 'हां हमने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बारे में सुना है। हम कोर्ट के आदेश की प्रति हासिल करेंगे। इसके बाद हम निश्चित तौर पर सीओए की मीटिंग में इस पर विचार करेंगे।'

The Voices FB