बस्तर संभाग

छत्तीसगढ़

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

By संतोष ठाकुर

 

जगदलपुर। पुलिस अधीक्षक डी श्रवण के द्वारा मंगलवार की सुबह 11से 2 बजे के बीच पुलिस परिवारों को होने वाली समस्याओं के निराकरण के लिए पुलिस लाइन के मीटिंग हॉल में एक सुनवाई की गई। जिसमें 13 परिवारों के लोग शामिल हुए। बैठक में तीन परिवारों के सदस्यों ने जहां स्थानांतरण की मांग की, वहीं एक पीड़ित परिवार ने मंगनार चौक पर शहीद स्मारक बनाने की भी बात रखी, जिसका तत्काल निराकरण किया गया।

एडिशनल एसपी संजय महादेवा ने बताया कि नक्सल पीड़ित परिवारों को होने वाली समस्याओं को देखते हुए आज पहली बैठक का आयोजन पुलिस लाइन में किया गया। जिसमें 22 परिवारों को बुलवाया गया था। इन परिवारों में से केवल 13 परिवार ही शामिल हो पाए। पुलिस अधीक्षक द्वारा जब उनसे समस्याओं के बारे में पूछा गया तो 3 पीड़ित परिवारों के सदस्यों ने बीजापुर जिले से जगदलपुर स्थानांतरण करने की बात कही। जिसे तत्काल हस्ताक्षर करके पूरा किया गया, वहीं करपावंड  थाना क्षेत्र के ग्राम मगनार में रहने वाले समुद्र साय देवागन ने बताया कि उनका भाई पदम देवांगन जो कि नक्सली हमले में शहीद हो गए थे। उनकी एक स्मारक मंगनार चौक में बनवाई जाए। जिसके जरिए जवान की गाथा को वहां के लोग जान सकें।

इनके अलावा कुछ पीड़ित परिवारों ने पानी, पट्टा व छात्रवृत्ति आदि की समस्‍याएं भी बताईं। ऐसी समस्‍याओं की जानकारी बस्तर कलेक्टर जानकारी दी गई है। अधिकारियों ने बताया कि हर मंगलवार को इसी तरह आयोजन किया जाएगा। जिसमें पीड़ित परिवारों को होने वाली समस्याओं का निदान किया जाएगा।

छत्तीसगढ़

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

by संतोष ठाकुर

जगदलपुर। देर रात को बच्चों को ठंड में घुमाने व तबियत खराब होने की बात कहना पत्नी को महंगा पड़ गया। इस विवाद के बाद पति ने कमरे में जाकर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। रात करीब 11:30 बजे पत्नी ने पति को फंदे पर लटकते हुए देखा। जिसके बाद पड़ोसियों को बुलवाया और युवक को उपचार के लिए अस्पताल ले गए जहां उसकी मौत हो गई।

मामले के बारे में जानकारी देते हुए कोतवाली पुलिस ने बताया कि पथरा गुड़ा निवासी सुरेंद्रनाथ (29 वर्ष) जो सौर ऊर्जा ने मजदूरी का काम करता था और 4 दिनों से तोंगपाल में काम कर रहा था। वापस आने पर अपने बच्चे को घुमाने के लिए ले गया था। जहां पत्नी ने कहा कि रात में ठंड के समय बच्चे को घुमाना उसके सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। इन बातों का पति के ऊपर इतना बुरा असर पड़ा कि उसने दूसरे कमरे में जाकर फांसी लगा ली।

पुलिस के मुताबिक मृतक शराब का आदी था। घटना के बाद पड़ोसियों ने जहां युवक को फंदे से उतारकर अस्पताल पहुंचाया। लेकिन तब तक युवक की मौत हो गई थी। पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया।

Tags:

Subcategories

The Voices FB