बेमेतरा

बेमेतरा

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

बेमेतरा। कलेक्टर ने आज समय सीमा की बैठक लेकर लंबित आवेदनों के निराकरण की समीक्षा की। छत्तीसगढ़ लोक सेवा गारंटी अधिनियम के अंतर्गत जनसामान्य लोगों से प्राप्त आवेदनों को समय-सीमा के भीतर कार्यवाही करने के निर्देश दिए है। नवागढ़ के शंकर नगर स्थित एक आंगनबाड़ी केन्द्र में वजन त्यौहार का आयोजन किया गया था।

बेमेतरा कलेक्टर महादेव कावरे ने लोगों से प्राप्त आवेदनों की पंजी संधारित करने, आवेदन के साथ संलग्न किए जाने वाले दस्तावेज और कार्यालय के बाहर फ्लैक्सी लगाने के भी निर्देश दिए। कलेक्टर कावरे ने इस माह 11 से 20 फरवरी तक मनाये जा रहे वजन त्यौहार के संबंध में भी जानकारी ली। जिलाधीश ने राजस्व अधिकारियों से स्कूलों में जारी किए गए जाति प्रमाण पत्र के संबंध में जानकारी ली। जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी ने बताया कि जिले के लगभग 1050 आंगनबाड़ी केन्द्रों में इसका आयोजन किया जायेगा। उन्होंने गंभीर रूप से कुपोषित बच्चों के लिए शुरू किए गए पोषण पुर्नवास केन्द्र एनआरसी में दाखिला करवाने के लिए विभाग के अधिकारी को निर्देशित किया। जिला अस्पताल में स्थापित इस केन्द्र में बच्चा एवं उसकी माँ को 15 दिन रहकर कुपोषण दर में कमी लाने ईलाज किया जाता है। इसमें आवास, भोजन एवं उपचार की निःशुल्क सेवा शामिल है। 

बेमेतरा

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

बेमेतरा। जिले के 13 एनीकटों पर गेट को वेल्डिंग द्वारा जाम कर दिया गया है। कलेक्टर महादेव कावरे के निर्देश पर गेट जाम किया गया, जिसके कारण इस साल पहले की तुलना में अधिक जलभराव हुआ है। जिले की तीन समूह जलप्रदाय योजना अमोरा, तिवरैया एवं नांदघाट में संचालित की जा रही है और जलभराव होने से आसपास के एक किलोमीटर नदी के किनारे भू-जलस्तर में बढ़ोत्तरी हुई है। शिवनाथ नदी में जलभराव होने पर रेत के अवैध उत्खनन पर भी अंकुश लगा है।

किसान पंप से साग-सब्जी की फसल के लिए पानी भी ले रहे हैं। जिले की लाइफलाइन कही जाने वाली शिवनाथ नदी का बहाव क्षेत्र जिले में लगभग 95 किलोमीटर है। इन एनीकट की कुल जल संग्रहण क्षमता 27.28 मि.घनमीटर है। जिनसे निस्तारी पेयजल के साथ-साथ कृषकों द्वारा स्वयं के साधन से 2094 हेक्टेयर में सिंचाई हेतु जल लिया जाना प्रावधानित है। इन एनीकटों से कुल 47 गांव लाभान्वित हो रहे है। पी.एच.ई. विभाग द्वारा समूह पेयजल योजना के अंतर्गत खम्हरिया-पाथरपूंजी एनीकट से साजा समूह पेयजल योजना के लिए, अमोरा एनीकट से बेमेतरा शहर तथा ग्रामीण समूह पेयजल योजना के लिए तथा नांदघाट-लिमतरा एनीकट से नवागढ़ समूह पेयजल येाजना हेतु पेयजल की आपूर्ति की जा रही है। जिससे खारे पानी प्रभावित इन क्षेत्र के लोगों को मीठा पेयजल उपलब्ध हो रहा है। इन एनीकटों से बेमेतरा विकासखंड के 57 गांव, नवागढ़ ब्लॉक के 54 गांव एवं साजा विकासखंड के 17 गांव कुल 130 गांवों को पेयजल उपलब्ध कराना प्रस्तावित है।

वर्तमान में इन एनीकटों से उनकी जल संग्रहण क्षमता के हिसाब से पूर्ण जलभराव उपलब्ध है, जिससे लाभान्वित गांव के किसान स्वयं के साधन से एनीकटों से सिंचाई सुविधा का लाभ ले रहे हैं। जिससे क्षेत्र से उनकी आर्थिक स्थिति में काफी सुधार हुआ है। किसानों द्वारा मुख्य फसल धान, गेहूं, चना, सोयाबीन के अतिरिक्त साग-भाजी का भी उत्पादन किया जा रहा है। बेमेतरा जिला में जल संसाधन विभाग के 35 एनीकट है जिनमें शिवनाथ नदी में 13, हाफ नदी में 4, सकरी नदी में 3, सुरही नदी में 5, डोटू नाला में 4, करूवा नाला में 1 और लोकल नाला में 3 एनीकट का निर्माण किया जा चुका है।

बेमेतरा

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

बेमेतरा । शासकीय कन्या महाविद्यालय बेमेतरा के राष्ट्रीय सेवा योजना कैंप गांगपुर में बेमेतरा कलेक्टर महादेव कावरे ने शिरकत की। कलेक्टर ने बच्चों को अपना लक्ष्य निर्धारित कर कड़ी मेहनत करने और पीएससी परीक्षा की तैयारी के गुर बताए। इस कार्यक्रम में प्राचार्य पी पी चंद्रवंशी, सरपंच दिवाकर, उपसरपंच वर्मा, सहायक प्राध्यापक गौतम सहित ग्रामीणजन भी उपस्थित थे।

कलेक्टर महादेव कावरे ग्रामीणों के साथ कलेक्टर महादेव कावरे ग्रामीणों के साथ

इस दौरान कलेक्टर कावरे ने अपने उदबोधन में कहा कि बच्चियों ने पूरे सात दिन गांव में रहकर स्वास्थ्य,  स्वच्छता और जागरूकता का कार्य किया है। बच्चियों ने समाज के प्रति अपने दायित्व को समझा है इसलिए उन्हें बधाई दी। कलेक्टर ने बच्चों को अपना लक्ष्य निर्धारित कर कड़ी मेहनत करने और पीएससी परीक्षा की तैयारी के तरीके भी बताए। कलेक्टर ने राज्य सरकार की महत्वपूर्ण योजना नरूवा, गुरुआ, घुरवा और बड़ी योजना के बारे में बताया ताकि किसानों की आय में वृद्धि हो सके ओए पशुधन का संरक्षण हो।

बेमेतरा

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

बेमेतरा । आम जनता की समस्याओं का मौके पर ही निराकरण करने के उद्देश्य से जिला प्रशासन ने आज बुधवार को जिले के नवागढ़ ब्लॉक के ग्राम मुरता में जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर आयोजित किया था। इस वर्ष का यह पहला जनसमस्या निवारण शिविर था। इस मौके पर क्षेत्रीय विधायक गुरूदयाल सिंह बंजारे, कलेक्टर महादेव कावरे, जिला पंचायत के सीईओ एस. आलोक ने ग्रामीणों की समस्यायें जानकर उनके त्वरित निराकरण करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए।

इस दौरान कुल 343 आवेदन प्राप्त हुए, इनमें से 233 आवदेनों का मौके पर ही निराकरण किया गया, शेष आवेदनों के लिए समय-सीमा निर्धारित की गई है। शिविर में मांग एवं शिकायत से संबंधित सर्वाधिक 213 आवेदन पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग को प्राप्त हुए, वहीं 24 आवेदन खाद्य विभाग से संबंधित थे, इसी तरह राजस्व विभाग को 18 आवेदन, समाज कल्याण विभाग को 23 आवेदन, विद्युत विभाग को 16 आवेदन प्राप्त हुए। शिविर में चार किसानों को कृषि विभाग द्वारा स्पे्रयर पंप का वितरण किया गया। 2 हितग्राहियों को 10-10 हजार रूपए का निःशुल्क महाजाल का वितरण किया गया। घर के कमाऊ सदस्य की मौत हो जाने पर 3 हितग्राहियों को राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना के अंतर्गत 20-20 हजार रूपए का चेक दिया गया। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अंतर्गत 12 हितग्राहियों को किफायती दर पर गैस चुल्हा एवं सिलेण्डर दिया गया।

विधायक बंजारे ने कहा कि- ‘शिविर लगाने की सार्थकता तभी है जब दफ्तरों में लोगों की समस्याओं का समय पर निराकरण हो। जब ऑफिसों में आम जनता का काम समय पर होने लगेगा तो शिविर में ग्रामीणों की उपस्थिति कम रहेगी।’ विधायक ने अधिकारियों से कहा कि वे संवेदनशील होकर आम जनता की समस्याओं का निदान करें, लोगों को बार-बार दफ्तरों का चक्कर काटने की नौबत ना आये। विधायक ने महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला स्तर के अधिकारी से प्राप्त शिकायतों के संबंध में जानकारी ली। ग्राम गिधवा में पक्षी विहार के निर्माण हेतु शासन से प्राप्त राशि एवं अब तक किए गए कार्यों  के संबंध में जानकारी ली।

वन विभाग के एसडीओ ने बताया कि शासन से दो करोड़ रूपए स्वीकृत हुए है किन्तु जलाशय में पानी नहीं होने से मात्र दो प्रतिशत ही काम हो पाया है। इसके अलावा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा ग्राम मुरता में पेयजल समस्या के निराकरण के संबंध में आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

विधायक एवं कलेक्टर ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर कुष्ठ पीड़ितों के प्रति समान व्यवहार बरतने की शपथ दिलायी। कलेक्टर ने कहा कि जिले के दूरदराज क्षेत्र के ग्रामीणों को अपनी विभिन्न समस्याओं के निराकरण के लिए जिला मुख्यालय तक आना पड़ता है, इससे उनका समय नष्ट होता है और आने-जाने का खर्च उठाना पड़ता है। आम नागरिकों की सुविधा के लिए जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में जिला प्रशासन द्वारा इस तरह के शिविर आयोजित किए जा रहे है। इसमें सभी विभाग के अधिकारी एक ही परिसर में उपस्थित रहते है और ग्रामीणों की समस्याओं का मौके पर ही निराकरण करते है।

जिलाधीश ने राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप छत्तीसगढ़ के चार चिन्हारी नरवा, गरूवा, घुरवा अउ बारी के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए पंचायत प्रतिनिधि एवं ग्रामीणों से आगे आने का आव्हान किया। जिला पंचायत सदस्य बिसौहाराम साहू ने सरपंचों के लंबित कार्यों की ओर ध्यान आकृष्ट किया। इनमें शौचालय निर्माण की लंबित राशि का भुगतान नहीं होने, समय पर सामाजिक सुरक्षा पेंशन एवं अन्य राष्ट्रीय पेंशन योजनाओं की राशि का भुगतान नहीं होना शामिल है। इसके अलावा उन्होंने ग्राम मल्दा में 90 लाख रूपए की लागत से निर्मित हायर सेकण्डरी भवन की गुणवत्ता के संबंध में शिकायत की। शिविर में विभागीय अधिकारियों द्वारा अपने-अपने विभाग से संबंधित जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी देकर इसका लाभ उठाने का आव्हान किया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा बड़ी संख्या में ग्रामीणों स्वास्थ्य परीक्षण कर निःशुल्क दवाइयां भी वितरित की गई।

शिविर में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व डी.एस उइके, कार्यपालन अभियंता पीएचई परीक्षित चौधरी, विद्युत जे.एस. चौधरी, पीडब्ल्यूडी एम आर जाटव, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना एस.के. साहू, जल संसाधन कुलदीप नारंग, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एस.के. शर्मा, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास मेनका चंद्राकर, डीईओ जी.आर. चंद्राकर, खाद्य अधिकारी भूपेन्द्र मिश्रा, आबकारी अधिकारी एस.एन. सिंह, जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी मनोज सिन्हा, जनपद पंचायत के सीईओ आनंदरूप तिवारी, तहसीलदार भूपेन्द्र गांवरे, जिला योजना एवं सांख्यिकी अधिकारी राजकुमार ओगरे और ग्राम पंचायत मुरता के सरपंच खोरबाहरा राम साहू सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

The Voices FB