कोरिया

कोरिया

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

By धीरज शिवहरे

बैकुंठपुर l एक बार फिर कोरिया के घने जंगली क्षेत्र में गजराज की वापसी हुई है, वन विभाग के मुताबिक ये 7 हाथियों का दल है, जो लगातार इन्हीं क्षेत्र से गुजरते हैंl वन विभाग ने हाथियों के इस झुण्ड का नाम गुरु घासीदास दल रखा हैl

हाथियों की लोकेशन रिपोर्ट पर इस नाम का जिक्र है हाथियों की लोकेशन रिपोर्ट पर इस नाम का जिक्र है

जानकारी के अनुसार ये दल पिपरहिया, मनसुख व सोंस के जंगलों में विचरण कर रहे हैं, जिनके सलबा कांदाबारी के जंगलों में भी आने के संकेत हैं बता दें कि कुछ महीने पहले ही कांदाबारी जंगल से होकर हाथियों के झुण्ड ने 1 व्यक्ति की जान भी ले ली थीl बहरहाल वन विभाग इन पर नजर बनाए हुए हैl

रेंजर अखिलेश मिश्रा ने बताया कि- हमारी टीम इन दलों पर लगातार नजर रखे हुए है ये दल आज सुबह से जंगलो में विचरण कर रहे हैं, पूर्व में हुई घटनाओं को देखते हुए हमने मास्टर बेरिकेडिंग के साथ पुख्ता बंदोबस्त किए हैंl ताकि किसी प्रकार की जनहानि न हो अभी ये दल पिपरहिया के जंगलों में हैं और रटगा व नगर क्रासिंग से होते हुए वापस जा सकते हैं l

कोरिया

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

By धीरज शिवहरे

कोरिया l हादसों को रोकना केवल प्रशासन की जिम्मेदारी नहीं है बल्कि आम जनता का भी कर्तव्य है कि दुर्घटना को रोकने के लिए नियमों का पालन करें और व्यवस्था बनाये रखने में सहयोग दें l जरुरी नहीं कि जब हादसे हों तभी प्रशासन कार्रवाई करे बल्कि दुर्घटना घटित होने के पहले ही समस्याओं को प्रशासन द्वारा इस संबंध में सतर्क रहना चाहिए l यह दृश्य कोरिया जिले के मुख्यालय बैकुंठपुर के सुभाष चौक का है, जहां मालवाहक वाहन के लिए प्रतिबंधित क्षेत्र होने के बावजूद यह ऑटो क्षमता से अधिक लोहे का सरिया लेकर जा रहा है l

दरअसल इस क्षेत्र में जिला न्यायालय के अलावा कोरिया जिले के आधे दर्जन से अधिक विभाग हैं साथ ही ये मालवाहक वाहन के लिए प्रतिबंधित भी है, फिर भी इन रास्तों से वाहनों का उपयोग क्षमता से अधिक सामानों के परिवहन के लिए किया जा रहा है l और ये एक मात्र वाहन नहीं है, हर रोज अनेको वाहन का प्रयोग ऐसे ही लोहे के सरिया व लोहे के बड़े पाईप रखकर परिवहन किया जाता है जो कि बाहर की ओर निकले रहते है और दो पहिया और चारपहिया वाहन चालकों के लिए भी खतरा बन सकते हैl

चौक चौराहों से धड़ल्ले से गुजरते हैं ये ओवरलोड वाहन यातायात विभाग है मौन

सरिया को लोड कर ये वाहन चालक धडल्ले से चौक चौराहे व मोहल्ले से तेज रफ्तार से हमेशा गुजरते हैं अंधे मोड पर भी इनकी रफ्तार कम नहीं होती साथ ही रात के अंधेरे में बिना लाईट की वाहनों में भी ये राहगीरों के लिए लगातार खतरनाक साबित हो रहे हैं l यातायात विभाग के सामने से जब ये वाहन गुजरते हैं तो भी इनपर कभी कार्यवाही नही होती हैl यातायात प्रशासन को इस विषय पर अंकुश लगाने की आवश्यकता है ताकि राहगीर सुरक्षित अपने घर पहुंच सकेl ये खतरनाक मालवाहक वाहन ज्यादातर चौक से न होकर गली-मोहल्ले से तेज रफ्तार से निकलते हैं और घर के बाहर खेल रहे बच्चों के लिए भी कई बार मुसीबत बन चुके हैं उसकी वजह है ज्यादातर वार्डों में ब्रेकर का न होनाl

Tags: ,

The Voices FB