छत्तीसगढ़

रायपुर

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

रायपुर एक महिला ने डॉक्टर पर रेप का आरोप लगाया है। राजधानी रायपुर में महिला ने 4 साल बाद डॉक्टर के खिलाफ रेप की शिकायत दर्ज कराई है। महिला ने आरोप लगाया है कि दांत का इलाज कराने के दौरान डॉक्टर ने रेप किया है।

यह घटना राजेंद्र नगर थाना की है, जहाँ एक महिला ने बताया कि वह डॉक्टर के पास चार साल पहले 28 जुलाई 2015 को क्लिनिक में दांत में कैपिंग कराने आयी थी। उस दौरान डॉक्टर ने बेहोशी का इंजेक्शन लगाकर उसके साथ रेप की घटना को अंजाम दिया था। महिला की शिकायत पर आरोपी डॉक्टर के खिलाफ थाने में 376, 354 के तहत मामला दर्ज कर लिया है और कार्रवाई की जा रही है।

इस मामले में राजेंद्र नगर थाना प्रभारी अजय शंकर त्रिपाठी ने बताया कि- ‘15 दिन पहले एसपी कार्यालय में शिकायत की गई थी, जिस पर कल गुरुवार को शिकायत दर्ज कर ली गई है। प्रकरण 10 साल पुराना होने के कारण बारीकी से विवेचना के बाद कार्रवाई की जाएगी।’

बस्तर

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

by-संतोष ठाकुर

जगदलपुर। रेलवे कालोनी में अपने दादा के घर मे रहने वाला शेखर विगत 10 दिनों से लापता है। युवक की तलाश में बोधघाट पुलिस कर रही है। अभी तक पुलिस को मामले में कोई सुराग नहीं मिला है। बस्तर एसपी ने इस मामले स्वयं संज्ञान में लिया है। युवक की मां भी पुलिस विभाग के हर आला अधिकारियों से गुहार भी लगा रही है।

इस मामले में बस्तर एसपी दीपक झा का कहना है कि वे खुद इस मामले की छानबीन कर रहे हैं। अब तक युवक का कोई सुराग हाथ नही मिला है।

पुलिस के अनुसार शेखर सेना पिता स्व. भुनेश्वर सेना (24) लापता है। वह मिशन स्कूल में 10वीं तक की पढ़ाई करने के बाद रेलवे के रनिंग रूम में काम कर रहा था।  बाद में यहां भी जाना बंद कर दिया। जानकारी में पता चला कि शेखर 9 जुलाई को करीब 1 हजार रुपए लेकर दोस्तों के साथ पार्टी मानने के नाम पर अपनी बाइक लेकर निकला था। देर रात तक घर नही आने पर परिजनों ने खोजबीन शुरू की।

10 जुलाई को शेखर की बाइक अंकुर होटल के पास सड़क किनारे मिली। उसमें चाबी भी लगी हुई थी। पास में रहने वाले युवक दीपक ठाकुर ने बाइक को से उठाकर कुछ दूरी पर ले गया था। पतासाजी के दौरान गुम युवक के चचेरे भाई ने वाहन को देखने के बाद पुलिस को सूचना दी थी। बहरहाल पुलिस परिजनों के साथ ही उसके दोस्त आदि से लगातार पूछताछ कर रही है।

बस्तर

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

by- संतोष ठाकुर

जगदलपुर। सनसिटी में रहने वाली एक महिला गुरुवार को अपने 3 माह के बच्चे की मौत सदमा बर्दाश्त नहीं कर पाई। उसने आत्महत्या करने की बात परिजनों से कही।।  112 डॉयल की टीम ने मौंके पर पहुंच कर महिला को समझाया। उसे अस्पताल में भर्ती किया गया है।

परिजनों ने बताया कि एक माह पहले पीड़िता के पति की मौत हो गई थी। बुधवार रात्रि पीड़िता के 3 महीने के बच्चा की निमोनिया से इलाज के दौरान मौत हो गई। सुबह परिजनों के साथ बच्चे को कफन दफन किया गया। इस बात से वह काफी दुखी थी।

पीड़िता ने  अपने परिजनों से कहा था कि मैं जीना नहीं चाहती हूं। फांसी लगाकर मौत को गले लगा लूंगी। परिजनों ने महिला की नियत को देखने के बाद  112 डॉयल में सूचना दी। पीड़िता एवं उसके रिश्तेदारों को 112 की ओर से समझाइश दी गई। थाना कोतवाली लाकर छोड़ा गया।

ड्यूटी में उपस्थित आरक्षक तुकल जोशी, सुरेश खाका एवं चालक राजू पिल्ले ने महिला को समझाया।

छत्तीसगढ़

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

by-वाहिद खान

मनोरा। विकासखंड मनोरा के शासकीय स्कूल में गुरुवार को शिक्षकों को एकदिवसीय प्रशिक्षण दिया गया। इस कार्यक्रम में मादक द्रव्यों के सेवन से होने वाले दुष्प्रभाव की जानकारी दी गई। कार्यक्रम एससीईआरटी रायपुर के पहल से जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान जशपुर की ओर से विकासखंड मनोरा के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मनोरा के सभाकक्ष में हुआ।

प्रशिक्षण में मादक द्रव्यों की रोकथाम परिणाम, मिथक और भ्रांति नुकसान यथा स्वास्थ्य पर नुकसान मनोवैज्ञानिक नुकसान सामाजिक कानूनी आर्थिक हानि आदि विषयों पर विशेषज्ञों ने प्रशिक्षार्थियों को उदाहरण सहित समझाया।

सत्र के समापन सत्र में प्रशिक्षार्थियों के अनुभव लिए गए अंत में आभार प्रदर्शन व प्रशिक्षण की उपयोगिता पर विकास खंड शिक्षा अधिकारी आरके गौतम ने सदन को संबोधित किया। प्रशिक्षण को सफल बनाने में तरुण पटेल बीआरसीसी लोखित भगत मंडल संयोजक आदि का सहयोग रहा।


प्रशिक्षण में एससीईआरटी रायपुर से मास्टर ट्रेनर्स विश्वास,डाईट जशपुर के प्रचार्य बी. बाखला ,प्राध्यापक,आरआर सोनवानी, आरबी चौहान प्रधान ने सत्र को संबोधित किया। विकासखंड के प्राथमिक, माध्यमिक,  हायर सेकेंडरी स्कूलों से चयनित 50 शिक्षक सम्मिलित हुए।

दुर्ग संभाग

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

रमेश गुप्ता

भिलाई। भिलाई छत्तीसगढ़ प्रदेश का पहला शहर है, जहां किश्त में राशि जमा करके नल कनेक्शन दिया जा रहा है। यही नहीं पिछले सालों की अपेक्षा नल कनेक्शन की फीस भी घटा दी गई। दरअसल ‘हर घर में नल और सबको मिले जल’ के सपने को पूरा करने के लिए महापौर देवेंद्र यादव ने नई पहल की है। 

निगम के अधिकारियों के अनुसार बीते 3 माह में भिलाई में रिकार्ड तोड़ नल कनेक्शन दिया गया है। निगम प्रशासन के एक रिपोर्ट के मुताबिक हर घर में नल कनेक्शन लगाने का काम तेजी से चल रहा है। लोग आवेदन कर अपने घरों में नल लगा रहे है। बीते करीब 3 माह में पूरे नगर निगम क्षेत्र के सभी वार्डों को मिलाकर करीब 9935 नल कनेक्शन दिए गए है। हर घर में 24 घंटे पानी सप्लाई के लिए निजी नल कनेक्शन मात्र 100 रुपए में रहे रहे हैं। हर माह 100 रुपए की किश्त जमा करना होगा। ऐसा 20 माह तक किश्त देना होगा। इसी प्रकार जो करदाता है वे लोग 250 रुपए की प्रतिमाह की किश्त देकर नल कनेक्शन लगवा सकते हैं। लोगों की मांग पर मात्र 130 रुपए निगम में जमा कराने के बाद नल कनेक्शन दे रहे हैं। यही नहीं बाकी राशि को लोग किश्त में निगम में जमा करा सकते हैं। किस्त की सुविधा देने से गरीब लोग, रोजी मजदूरी करने वाले लोगों को अपने घर में नल लगाने में काफी सुविधा व लाभ मिल रहा है। जानकरी के अनुसार निगम क्षेत्र में कुल 50580 नल कनेक्शन देना है।

जोन        अब तक लगे नल

जोन 1         3028

जोन 2         1154

जोन 3         3

जोन 4         2093

जोन 6         3657

कुल           9935

 

ऐसे कर सकते हैं आवेदन

निगम के इंजीनियरों ने बताया कि नल कनेक्शन लेने के लिए पहले लोगों को अपने जोन कार्यालय में जाना होगा। 30 रुपए देकर ऑनलाइन आवेदन करना है और 100 रुपए हितग्राही अनुदान राशि के रूप में जमा करना है। निगम प्रशासन ने जिस एजेंसी को अमृत मिशन फेस 2 के तहत नल लगाने का ठेका दिया है। वह एजेंसी आवेदनकर्ता के घर में नल लगाएगा। बाकि की राशि लोग अपने सहूलियत के हिसाब से किश्त में जमा कर सकेंगे।

पहले नल कनेक्शन लगाने के लिए कुल 6 हजार रुपए जमा करने पड़ते थे वो भी एकमुस्त। लेकिन अब शहर सरकार ने इस राशि को 6 हजार से घटाकर 5 हजार रुपए कर दिया है। वहीं जो करदाता नहीं है उन्हें मात्र 2 हजार रूपए यह सुविधा मिल जाएगी। इतना ही नहीं वे इस राशि को आसान किश्तों में भी दे सकते हैं।

Subcategories

The Voices FB