छत्तीसगढ़

ख़ास ख़बर

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

By रमेश गुप्ता

रायपुर। प्रदेश में लोकसभा चुनाव के लिए तीसरे चरण का मतदान 23 अप्रैल को होने वाला है। आपने मतदान करने के लिए लोगों की लंबी भीड़ देखी होगी हम आपको प्रदेश की सबसे छोटे मतदान केंद्र के बारे में बताने वाले हैं। प्रदेश का सबसे छोटा मतदान केन्द्र कोरिया जिले का मतदान केन्द्र सेराडांड है।

यह मतदान केंद्र कोरबा लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत भरतपुर– सोनहत विधानसभा क्षेत्र के चंदहा ग्राम पंचायत के आश्रित ग्राम सेराडांड में है, प्रदेश का सबसे छोटा मतदान केन्द्र। चार मतदाताओं वाला यह केन्द्र अस्थाई मतदान केन्द्र है। यहां केवल 4 मतदाता वोट करेंगे। जिसमें एक ही परिवार के तीन मतदाता और वन विभाग का एक कर्मचारी शामिल हैं। इनमें तीन पुरूष तथा एक महिला शामिल है।

इसके अलावा भरतपुर – सोनहत क्षेत्र के ही कांटो और रेवला मतदान केन्द्र में भी 20 से कम मतदाता हैं। सेराडांड मतदान केन्द्र दुर्गम क्षेत्र सोनहत विकासखंड के चंदहा ग्राम पंचायत के ग्राम सेराडांड में है। जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर से लगभग 95 किलोमीटर की दूरी पर सेराडांड सोनहत विकासखंड के ग्राम पंचायत चंदहा से लगभग 12 किलोमीटर दूर है। इस केन्द्र तक पहुँचने के लिए पगडण्डी से होते हुए जंगल और पहाड़ों के बीच से जाना पड़ता है। इसी प्रकार कांटो मतदान केन्द्र में कुल 11 मतदाता है, जिसमें 6 पुरूष और 5 महिला तथा रेवला मतदान केन्द्र में कुल 19 मतदाताओं में 10 पुरूष 9 महिला शामिल हैं। इसके पहले भी विधानसभा तथा लोकसभा निर्वाचन के लिए इन स्थानों पर मतदान केन्द्र बनाया गया था।

Subcategories

The Voices FB