छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

By संतोष ठाकुर

जगदलपुर। जिला अधिवक्ता संघ द्वारा मंगलवार दोपहर अपर कलेक्टर को अपनी 10 सूत्रीय मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा गया। अधिवक्ताओं ने बताया किे आज पूरे भारत के अधिवक्ता हड़ताल पर हैं। अगर मांगें पूरी नहीं हुई, तो आगामी दिनों में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जायेंगे।

संघ के पदाधिकारियों द्वारा 10 सूत्रीय मांगों को लेकर 12 फरवरी को प्रधानमंत्री के नाम पर बने ज्ञापन को अपर कलेक्टर को सौपा गया है। संघ के अध्यक्ष संजय विश्वकर्मा ने बताया कि 2 फरवरी को भारतीय विधि की परिषद बैठक ली गई थी, जिसमें 10 सूत्रीय मांगों को लेकर चर्चा की गई। उन्होंने बताया कि जो 10 मांगे हैं, उनमें मुख्य रूप से अधिवक्ताओं एवं परिवार के लिए 20 लाख का बीमा, अधिवक्ताओं के लिए भारत व विदेशों के सर्वश्रेष्ठ अस्पतालों में मुफ्त चिकित्सा सुविधा हेतु स्पेशल कार्ड बनवाया जाए, शुरुआत में जुड़ने वाले अधिवक्ताओं को 5 से 10 हजार रुपए प्रतिमाह रूपये दिया जाए, वृद्ध निर्धन अधिवक्ताओं के निधन पर 50 हजार रुपए प्रतिमाह फैमिली पेंशन दिया जाए, अधिवक्ता संघ हेतु भवन, निवास, बैठक व्यवस्था तथा लाइब्रेरी की सुविधा उपलब्ध की जाए, महिला अधिवक्ताओं के लिए अलग से शौचालय व्यवस्था उपलब्ध कराई जाए। ब्याजमुक्त होम लोन, लाइब्रेरी लोन, वाहन लोन प्रदान किया जाए। सस्ते मूल्य पर गृह निर्माण की व्यवस्था, यदि किसी कारणवश जैसे दुर्घटना, हत्या या किसी बीमारी से 65 वर्ष के उम्र की आयु अधिवक्ता की मृत्यु होने पर 50 लाख रुपए अनुदान राशि परिवार को दिया जाए।

ख़ास ख़बर

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

By मनोज यादव

कोरबा। जिला अस्पताल में भर्ती युवती लापता हो गई। घटना की जानकारी जिला अस्पताल प्रबंधन और परिजनों को तब हुई जब वह अपने बेड पर नहीं मिली।जिला अस्पताल के महिला वार्ड के 13 नंबर बेड पर भर्ती 19 वर्षीय अनीता केंवट रामपुर बस्ती की निवासी है। कुछ दिनों पहले उसकी तबीयत बिगड़ी और उसे जिला अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां वह भर्ती थी। मंगलवार की सुबह जब परिजन जिला अस्पताल उसे देखने पहुंचे तो बेड पर नहीं मिली। कुछ देर के लिए लगा कि बाथरूम या फिर आसपास टहलने निकली होगी, लेकिन घंटों बीत जाने के बाद भी वह अपने बेड पर वापस नहीं पहुंची, तब इसकी जानकारी अस्पताल स्टाफ को दी गई।

वार्ड में भर्ती मरीजों की मानें तो लापता युवती अपनी सहेली के साथ रहती थी। वह कब और कैसे लापता हो गई उन्हें भी नहीं पता। जब परिजन तलाश करने लगे तो घटना की जानकारी सामने आई।

आईएसओ प्रमाणित जिला अस्पताल हमेशा सुर्खियों में रहा है। अस्पताल की सुरक्षा को लेकर नगर सेना के जवान, निजी सुरक्षाकर्मियों की तैनाती, जिला अस्पताल परिसर में चौकी है, फिर भी जिला अस्पताल में कई ऐसे मामले सामने आ चुके हैं।

ख़ास ख़बर

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

By मनोज यादव

कोरबा। शहर के करीब आईटी कॉलेज के पास हाथियों के दल के पहुंचने की सूचना पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची जहां अफवाह बाजार आसपास फैला हुआ था, वहीं आईटी कॉलेज के चौकीदार ने हाथी के झूंड को देखने की पुष्टि की है।

वन विभाग के अफसरों को यह खबर सुनकर पसीना छूट गया, कि हाथियों का दल शहर के करीब आ गया है। रिसदी, नकटीखार रोड पर आईटी कॉलेज के पास 8 हाथियों का दल रोड क्रॉस कर जंगल की तरफ जाने की अफवाह आसपास के बस्ती और राहगीरों को मिली। कुछ समय के लिए वनकर्मियों को भी लगा कि हाथियों का दल फिर से शहर की तरफ आ धमका होगा, लेकिन घटनास्थल पहुंचकर जांच की गई तो ऐसा कोई भी हाथी के पदचिन्ह नजर नहीं आए। वन विभाग के अफसरों की मानें तो तीन हाथियों का दल कटघोरा वन परिक्षेत्र के पोड़ीखोहा में देखा गया है। ट्रैकिंग कर जंगल की ओर खदेड़ा जा रहा है।

हाथी देखे जाने का दावा कर रहे आईटी कॉलेज के सुरक्षाकर्मी संतोष देवांगन की मानें तो सुबह 5:00 बजे एक साइकिल सवार दौड़ते हांफते कॉलेज के पास पहुंचा और बताया कि हाथी रोड क्रॉस कर रहे हैं।

कुछ माह पहले ही 4 हाथियों का दल शहर के मध्य घंटाघर हेलीपैड पहुंचा था। इस घटना से शहर में हड़कंप मच गया था। हाथियों के जंगल की ओर भगाने वनकर्मियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। फिर से हाथियों के आ जाने की सूचना पर वन विभाग के कर्मचारियों को भी वही दिन याद आ गया।

Subcategories

The Voices FB