छत्तीसगढ़

बस्तर

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

by- संतोष ठाकुर

जगदलपुर। इंद्रधनुष योजना में बस्तर पुलिस को कामयाबी मिल रही है। इस योजना के अंतर्गत पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए शहर से लापता हुए तीन लोगों को ढूंढ़ निकाला है। इनमें दो विवाहिता और एक नाबालिग शामिल है। पुलिस ने तीनों को उनके परिजनों को सौंप दिया है। इस मामले में बस्तर एसपी दीपक झा ने कहा कि इंद्रधनुष योजना से पुलिस को कामयाबी मिल रही है। जिसमें आरक्षक से लेकर प्रभारी तक उत्कृष्ट कार्य कर रहे हैं। जिनका एक प्रतिवेदन भेजा जाएगा। उन्हें पुरस्कृत भी किया जाएगा।

मामले के बारे में जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि 29 जून को एक मामला दर्ज कराया गया था। वृंदावन कालोनी में रहने वाली एक विवाहिता 32 वर्ष जो 28 जून को घर से दोपहर 12 बजे के समय गायब हो गई थी। मामले की रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस ने परिजनों के साथ ही रिश्तेदारों से पतासाजी की। जांट के दौरान पता चला कि ओडि़शा में है। पुलिस ने बिना देर किए एक टीम तैयार करके ओडिशा भेजी। महिला को पूजारीपारा से बरामद किया गया। महिला ने बताया कि उसकी शादी को अभी एक वर्ष ही हुआ है, लेकिन घर के कलह से परेशान होकर वह मायके आ गई थी।

एक अन्य मामला नायमुण्डा का है। यहां भी एक विवाहिता 30 जून को घर से लापता हो गई थी। महिला अपने पति के साथ किराये के मकान में रहती थी। महिला के गुम होने की रिपोर्ट दर्ज होने के बाद 24 घंटे के बाद महिला को नेगीगुड़ा से बरामद किया गया।

एक अन्य मामले में एक 10वीं की छात्रा लापता थी। वह नायमुण्डा में अपने परिजन के साथ रहती है। नाबालिग प्रेम प्रसंग के चलते 4 जुलाई को घर से गायब हो गई थी। परिजनों ने मामले की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई। पुलिस सूचना के आधार पर ओडिशा उमरकोट पहुंची। यहां 5 जुलाई को नाबालिग को घर से बरामद किया गया। पुलिस के आने की खबर लगने पर परिजन नाबालिग को घर मे अकेला छोड़कर फरार हो गए थे। इन तीनों मामले में बोधघाट थाना की एक महिला प्रधान आरक्षक दुशिला भारद्वाज ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

रायपुर

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

रायपुर। नीति आयोग की ओर से विकास के विभिन्न मापदंडों के आधार पर देश के सर्वाधिक सुधार वाले पांच आकांक्षी जिलों की माह मई 2019 की डेल्टा रैंकिंग जारी की गई है। जिसमें छत्तीसगढ़ का कोण्डागांव जिला देश में प्रथम स्थान पर है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस उपलब्धि के लिए कोण्डागांव के जनप्रतिनिधियों, जिला प्रशासन और नागरिकों को बधाई और शुभकामनाएं दी है।

देश के आकांक्षी जिलों में सामाजिक विकास के विभिन्न क्षेत्रों में दर्ज की गई प्रगति से जिलों के नागरिकों के ‘ईज ऑफ लिविंग‘ में सुधार आया है। जिसके आधार पर नीति आयोग ने जिलों की रैंकिंग की है। नीति आयोग की ओर से ट्विट के माध्यम से प्रथम पांच जिलों की सूची जारी की गई है, जिसमें छत्तीसगढ़ का कोण्डागांव जिला प्रथम स्थान पर, उत्तर प्रदेश का फतेहपुर दूसरे स्थान पर, झारखण्ड का पाकुर तीसरे स्थान पर, राजस्थान का धौलपुर जिला चौथे स्थान पर और उत्तर प्रदेश का चित्रकोट जिला पांचवे स्थान पर है।

देश

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

वाराणसी। 16 जुलाई को देश भर में गुरु पूर्णिमा मनाया गया। इस दिन सभी छात्र-छात्राओं ने अपने गुरु और शिक्षकों को सम्मानित किया लेकिन गुरु पूर्णिमा के दूसरे ही दिन एक ऐसी घटना सामने आई, जिसने गुरु और शिष्य के रिश्ते को शर्मिंदा कर दिया। दरअसल एक शिक्षक ने छात्र की पिटाई कर दी जिसके बाद बौखलाए हुए छात्र के परिजनों ने शिक्षक को पीटा।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यह घटना पांडेयपुर पिसनहरिया क्षेत्र में स्थित प्राथमिक विद्यालय की है, जहां विद्यालय के प्रधानाचार्य शैलेंद्र सिंह पांचवी कक्षा में पढ़ा रहे थे, जब उन्होंने पढ़ाना शुरू किया तो कक्षा में बैठे अजय चौहान नाम के छात्र ने कुछ शैतानी कर दी। इस शैतानी से मास्टर साहब का दिमाग गर्म हो गया और उन्होंने छात्र को डस्टर फेंक कर मार दिया, जिससे छात्र को हल्की सी चोट लग गई। फिर क्या था अपने बच्चे की कुटाई की सूचना मिलने पर छात्र के परिजन विद्यालय पहुंचे और तैश में आकर मास्टर साहब की ही कुटाई कर दी। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची लेकिन तब तक हमलावर वहां से फरार हो गए थे।

जुर्म

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

संतोष ठाकुर

जगदलपुर। फुटपदर रेलवे ट्रैक में रात को एक युवक चलता हुआ दिखाई दिया, जिसके बाद कर्मचारी ने वहाँ से हटने की बात कही, जिस पर गुस्से में आकर युवक व उसके साथियों ने कर्मचारी की ही पिटाई कर दी। घायल ने 112 डायल को फोन कर घटना की सूचना दी लेकिन पुलिस के आने से पहले ही आरोपी फरार हो गए। वही प्रार्थी ने इस मामले की रिपोर्ट नगरनार थाना में मामला दर्ज कराया है।

मामले के बारे में जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि रेलवे विभाग का कर्मचारी योगेश भारती 17 जुलाई के रात करीब 11से 12 बजे के बीच ग्राम खुदपदर रेलवे क्रॉसिंग गेट में ड्यूटी कर रहा था तभी एक व्यक्ति रेलवे ट्रैक में चलते हुए दिखाई दिया। कर्मचारी ने जब उसे ऐसा करने से मना किया तो आरोपी गाली गलौज करते हुए आकर धमकी देने लगा और अन्य चार-पांच लड़कों को लाकर ड्यूटी में तैनात योगेश भारती के साथ मारपीट भी की। आरोपी के कब्जे से छूटकर योगेश ने मामले की जानकारी 112 डायल को दी। मामले की जानकारी लगते ही ईआरवी वाहन मौके पर पहुंची, जिसे देखकर आरोपी फरार हो गए। घटनास्थल में रेलवे के अन्य कर्मचारी अधिकारी भी पहुंचे। प्रार्थी को थाना नगरनार लाया गया, जहाँ उसने मामले की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई। बताया जा रहा है कि 112 के जवानों में आरक्षक रंजीत ठाकुर आरक्षक सोमनाथ कश्यप चालक गोवर्धन कश्यप को देखकर आरोपी वहाँ से भाग निकले।

Subcategories

The Voices FB