झारखंड

झारखंड
Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive
खूंटी। खूंटी जिले के अड़की पुलिस पुलिस ने रविवार को दो नक्सली को गिफ्तार किया है वहीं 1 नक्सली भागने में कामयाब हो गया। दोनों गिरफ्तार नक्सली पीएलएफआइ के सदस्य है। दोनों आरोपी को जंगल में सर्चिंग के दौरान पकड़ा गया है।

यह घटना अकड़ी थाना क्षेत्र की है, जहां कुरुबुरु के जंगल से 2 नक्सलियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार नक्सलियों का नाम जोगन मुंडा और सुखराम मुंडा है दोनों आरोपी को जंगल में सर्चिंग के दौरान पकड़ा गया है जबकि एक अन्य नक्सली सोमा मुंडा उर्फ टटन जंगल का फायदा उठाकर पुलिस की गिरफ्त से भागने में सफल रहा
 दोनों उग्रवादियों के पास से पुलिस ने एक रायफल दो जिंदा कारतूस भी बरामद किया है। जानकारी के अनुसार जोटो के उपर हत्या समेत कई अन्य चार केस दर्ज है जबकि सुखराम को एक केस है। अड़की थाना प्रभारी ने बताया कि दिनों ही पीएलएफआई संगठन के सदस्य हैं। पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर उनकी गिरफ्तारी की है इस संबंध में अडकी थाना में धारा 25 (1बी) ए/26 /35 आर्म्स एक्ट तथा 17 सी एलए एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया गया।

झारखंड
Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

बिशुनपुर । लोकसभा चुनाव के बाद नक्सलियों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। बिशुनपुर थाना क्षेत्र के कटिया गांव में गुरुवार की शाम माओवादियों ने साप्ताहिक हाट से भाजपा कार्यकर्ता सह मुर्गा कारोबारी ब्रजेश साहु (38) का अपहरण किया फिर गोली मार कर हत्या कर दी इस घटना के बाद ग्रामीणों में दहशत का माहौल; बना हुआ है मारा गया ब्रजेश भाजपा का बूथ संयोजक था। वह बानालात का ही रहनेवाला था। माओवादियों ने पर्चा फेंक कर हत्या की जिम्मेवारी ली और ब्रजेश को पुलिस का एसपीओ बताया।

जानकारी के अनुसार कटिया के साप्ताहिक हाट में ब्रजेश साहु मुर्गा का दुकान लगाए हुए था। गुरुवार की शाम साढ़े पांच बजे तीन सदस्यीय माओवादियों का दस्ता उसके पास पहुंचा और उसे दबोच लिया। उसके हाथ बांध दिए और अपहरण कर ले गए। बाजार से लगभग आधा किलोमीटर दूर माओवादियों ने उसे गोली मार दी। घटना स्थल पर ही ब्रजेश ने दम तोड़ दिया। नक्सल खौफ से किसी को आग बुझाने की हिम्मत नहीं हुई। पुलिस शुक्रवार को घटनास्थल पर पहुंची और शव को पोस्टर्माटम के लिए गुमला सदर अस्पताल भेज दिया।  

पीएलएफआइ का एरिया कमांडर गिरफ्तार 
घाघरा थाना पुलिस ने गुमला थाना के खरका गांव से पीएलएफआइ के एरिया कमांडर उदयवीर गोप उर्फ चंदू उरांव को गुरुवार की रात गिरफ्तार कर लिया। उदयवीर पर सिसई, घाघरा और गुमला थाना में हत्या और लेवी के कई मामले दर्ज हैं। छापामारी दल में अवर निरीक्षक सुनील कुमार टुंडी शामिल थे।

झारखंड
Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

रांची मंगलवार की दोपहर केरल एक्सप्रेस से सफर कर रहे 4 यात्रियों की सफर के दौरान ही मौत हो गयी। मौत की वजह असहनीह गर्मी बताई जा रही है। यात्रियों के शवों को रांची स्टेशन मे उतारा गया है। 

बताया जा रहा है कि, मंगलवार को ये चारो यात्री आगरा से कोइम्बटोर सफर कर रहे थे। ट्रैन के आगरा से निकलते ही गर्मी बहुत बढ़ गयी और यात्री सांस लेने मे दिक्कत और बेचैनी की शिकायत करने लगे।  जैसे ही आस पास के लोग कुछ समझ पाते की 3 यात्री ज़मीन पर गिर पड़े और बेहोश हो गए। ट्रैन के रांची स्टेशन पहुँचने  तक 3 यात्रियों की मौत हो चुकी थी, वहीं चौथे की मौत अस्पताल मे इलाज के दौरान हुई। मौत की मुख्य वजह गर्मी को बताया जा रहा है। मरने वालों की उम्र 70-80 साल के बीच की थी। 

झारखंड
Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

लातेहार। झारखण्ड के लोतेहारा में स्वास्थ्य कर्मियों के लापरवाही के चलते गर्भवती महिला के पेट में शिशु ने दम तोड़ दिया। लोतेहारा अपने लचर स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर अक्सर सुर्ख़ियों में बना रहता है। 12 जून की रात जयंती देवी नाम की महिला को प्रसव पीड़ा के बाद परिवार वाले उसे सदर अस्पताल लेके आए थे।यहां महिला की गंभीर स्थिति को देखकर चिकित्सकों ने उसे इलाज के लिए भर्ती किया।  महिला के प्रसव होने के समय ड्यूटी पर तैनात स्वास्थ्य कर्मियों को उठाया गया। लेकिन स्वास्थ्य कर्मियों ने प्रसव नहीं कराया। बाद में मनिका व लातेहार के सहिया ने ग्‍लव्‍स व आवश्यक उपकरणों के बिना प्रसव कराया। लेकिन बच्चा मृत निकला। बच्चे की मौत की सूचना से ही विभाग में हड़कंप मच गया।

जयंती देवी के पति ने अस्पताल प्रबंधन पर आरोप लगया है की  अस्पताल में रात के समय ऑन ड्यूटी मौजूद रहने वाली एनएम को प्रसव के बाद काफी देर तक बुलाने के बाद भी सोई रहीं यदि समय पर एनएम आ जातीं तो बच्चे की जान बच जाती

इसकी घटना की जानकरी को लेकर डॉ. शिवपूजन शर्मा, सीएस लातेहा ने कहा की मामले की जानकारी हमें मिल गई इसकी जांच की जाएगी। इसके बाद ही संबंधित लोगों पर कार्रवाई की जाएगी

झारखंड
Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

सरिया।  रसोई गैस के फटने से पति-पत्नी  झुलस गए। विस्फोट  इतना भयानक था कि घर के  छपर से आग 20 मीटर ऊपर तक जा पहुंचा। आनन-फानन में लोगों ने आग पर काबू पाया और तुरंत दोनों झुलसे पति-पत्नी को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया।

 दरअसल यह पूरी घटना झारखंड के गिरिडीह में सरिया थाना क्षेत्र के चंद्रमारनी का  मंगलवार अपरान्ह लगभग एक बजे भोजन बनाते समय रसोई गैस सिलेंडर विस्फोट कर गया। हादसे में भोजन पका रही महिला मीना देवी और उसके पति राजेश प्रसाद कुशवाहा झुलस गए। विस्फोट से रसोई गैस सिलेंडर सहित घर के छप्पर उड़ गए। घटना की सूचना मिलते ही पास पड़ोस के लोग वहां जुटे। तब तक घर में आग की लपटें फैल चुकी थी। आनन-फानन में लोगों ने आग पर काबू पाया। वहीं पति-पत्नी को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया । वहां राजेश कुशवाहा की गंभीर स्थिति को देखकर उन्हें बीजीएच बोकारो रेफर कर दिया गया।  

घटना की सूचना मिलते ही सरिया थाना प्रभारी ने सहायक अवर निरीक्षक बुद्धेश्वर सरदार को सदल बल भेजा तथा घटना का जायजा लिया। सरिया पूर्वी के जिप सदस्य अनूप कुमार पांडेय ने कहा कि यह घटना दुखद है। सरकार से इसमें उचित मुआवजा देने की मांग की जाएगी, ताकि पीड़ित परिवार को राहत मिल सके। वहीं उन्होंने अन्य लोगों को भी सावधानी पूर्वक गैस का इस्तेमाल करने की सलाह दी। 

The Voices FB

Click NowClick Now