झारखंड

झारखंड
Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

रांची। शुक्रवार को दोपहर बाद हुई बारिश ने राज्य के अलग-अलग हिस्सों में चार लोगों की जान ले ली। वहीं कुछ मवेशियों की भी मौत हो गई है। राज्य में मानसून ने दस्तक दे दी है, शुक्रवार को बारिश के दौरान बिजली गिरने से 4 लोगों की मौत हुई है।

दैनिक जागरण की खबर के मुताबिक झारखंड के देवघर के सारवां मोहलीडीह में अपने घर के बाहर खड़े मुकेश तुरी अपने छह साल के बेटे बबलू तूरी के साथ आसमानी बिजली की चपेट में आ गए। इस हादसे में मुकेश की मौके पर मौत हो गई, जबकि उसके बेटे बबलू की हालत गंभीर बनी हुई है। वहीँ देवघर के ही छोटेलाल यादव कि भी बिजली गिरने से मौत हुई है। बताया जा रहा है कि लगभग तीन बजे वह घर के बाहर चापाकल पर हाथ धोने गया था, इसी बीच बिजली की चपेट में आ गया। जानकारी के अनुसार राज्य के अन्य इलाकों में भी बिजली गिरने से मौतें हुई हैं।

वहीं गुमला के रायगढ़ में सुरसांग थाना के मोकरा डोंगइतटोली गांव में बिजली गिरने से 45 वर्षीय चुन्नु नगेशिया की मौत हो गई। घटना के वक्त वह खेत में काम कर रहा था। चतरा के टंडवा थाना क्षेत्र के ग्वालटोली निवासी 32 वर्षीय खुशी यादव शाम में गाड़ी से सीमेंट उतारते वक्त बिजली की चपेट में आ गया। मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

झारखंड
Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

रांची। सिमडेगा के बानो  प्रखंड उरमू गांव में पुलिस–नक्सली मुठभेड़ें एक नक्सली के मरे जान एकी खबर सामने आई है। मारे गये नक्सली के पास से एक एके 47 रायफल और भारी मात्र में गोली बारूद बरामद हुआ है। यह मुठभेड़ बुधवार की शाम को हुआ। घटना स्थल से नक्सलियों के शव बरामद किया जा सकता है।   सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक  पुलिस को सूचना मिली थी कि माओवादी कमांडर नवीन यादव अपने दस्ते के साथ उरमी जंगल में आने वाला है। इसी सूचना पर पुलिस और सीआरपीएफ 94वीं बटालियन के सुरक्षा बल योजना बनाकर घटनास्थल पर पहुंचे। इस दाैरान दोनों ओर से मुठभेड़ शुरू हो गई। जिसमें एक उग्रवादी मारा गया।

सीआरपीएफ 94 बटालियन एवं राज्य पुलिस की संयुक्त टीम के साथ सिमडेगा जिला के बानो थाना क्षेत्र के उरमू गांव के पास के जंगल में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ हुई। दोनों तरफ से भीषण गोलीबारी के बाद सर्च के दौरान 01 नक्सली का शव  और 01 एक-47 राइफल बरामद किया गया है। इससे एक दिन पूर्व ही एसपी संजीव कुमार ने सभी पुलिस पदाधिकारियों को अलर्ट पर रहने को कहा था। साथ ही जवानों को ड्यूटी के दौरान स्मार्ट फोन का इस्तेमाल  करने पर रोक  लगाया था

झारखंड
Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

 ग्रामीणों ने एक किशोरी और उसके प्रेमी को पकड़ लिया

ग्रामीणों ने कानून की धज्जियां उड़ा दीं

दुमका सरैयाहाट थाना क्षेत्र के एक गांव में ग्रामीणों ने मर्यादा को तार-तार कर दिया। ग्रामीणों ने एक किशोरी और उसके प्रेमी को पकड़ लिया। उसके बाद उसे अर्धनग्न अवस्था में लेकर थाने गए। दोनों का वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। इस घटना के बाद प्रेमी मोहन मंडल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। युवती ने पुलिस को  बताया है कि प्रेमी उसे शादी करने का झांसा देकर छह माह से यौन शोषण कर रहा था ।

जानकारी के मुताबिक नाबालिग ने पुलिस को बताया कि आरोपी करीब छह माह से शादी का प्रलोभन देकर यौन शोषण कर रहा था। किशोरी की रिश्तेदार की बुधवार को बरात आने वाली थी। वहां निमंत्रण पर बाबूडीह गांव का मोहन भी आया था। देर रात किशोरी को लेकर मोहन बगल के ईख के खेत में गया। इसे कुछ युवकों ने देख लिया और अन्य ग्रामीणों को जानकारी दी। ग्रामीण भी खेत में घुस गए और दोनों को आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ लिया। इसके बाद उन दोनों को एक कमरे में बंद कर बांध दिया।बारात विदा होने के बाद लोग थाना लाए। ग्रामीण इतने उत्तेजित थे कि उसके पिता को भी भला बुरा कहकर गांव छोडऩे को कह रहे थे। इसलिए वे भी कुछ नहीं बोल सके। इधर पुलिस ने पिता के बयान पर मामला दर्ज किया है।

 दुमका पुलिस अधीक्षक वाईएस रमेशने कहा की नाबालिग से यौन शोषण के आरोप में पोक्सो एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज कर आरोपित को जेल भेजा है। अर्धनग्न अवस्था में दोनों को थाने लाने की बात कही जा रही है। वीडियो भी वायरल हुआ है। जरमुंडी एसडीपीओ अनिमेष नथानी मामले की जांच कर रहे हैं। वीडियो वायरल करने वालों की पहचान कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी

झारखंड
Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

रांची झारखंड के दुमका में छह इनामी हार्डकोर नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया है। सरेंडर करने वाले नक्‍सलियों में दो महिलाएं शामिल हैं इनमें पांच लाख की इनामी महिला नक्‍सली भी शामिल है लाल आतंक के प्रतीक   पीसी दी उर्फ प्रीशिला उर्फ साबड़ी सिंह के साथ पांच खूंखार नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया और कभी हिंसा नहीं करने का कसम खाई हैजानकारी के मुताबिक सरकार ने पूरे राज्‍य में 189 हार्डकोर नक्‍सलियों पर इनाम घोषित कर रखा है।

सरेंडर करने वाले नक्‍सलियों में दो महिलाएं शामिल हैं। भाकपा माओवादी संगठन में सब जोनल कमांडर के पद पर तैनात एक महिला नक्‍सली दुमका में कई बड़े कांडों में शामिल रही है। इन पर एक से पांच लाख रुपये तक का इनाम घोषित है। 13 जनवरी को हार्डकोर नक्‍सली सहदेव राय उर्फ ताला दा की मुठभेड़ में मौत हो जाने के बाद से ही कई नक्‍सली पुलिस के संपर्क में आ गए थे।

पीसी दी के साथ पांच माओवादियों ने किया आत्मसमर्पण

संताल परगना में लाल आतंक के प्रतीक   पीसी दी उर्फ प्रीशिला उर्फ साबड़ी सिंह के साथ और पांच माओवादियों ने सोमवार को सरकार के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। आत्मसमर्पण करने वाले माओवादी  पाकुड़ के तत्कालीन एसपी अमरजीत बलिहार की हत्या में शामिल थे।  माओवादि‍यों ने एके 47, इंसास, कार्बाइन जैसे अपने घातक हथियार भी पुलिस के हवाले कर दिया। उन लोगों ने फैसला लिया है कि अब लाल सलाम नहीं बोलेंगे, न हिंसा करेंगे।पीसी दी समेत पांच ऐसे माओवादियों ने सोमवार को डीआइजी और एसपी के समक्ष हथियार डाल दिया, जिनके नाम पर संताल का इलाका थर थर कांपता रहा है।

The Voices FB

Click NowClick Now