मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

सेंधवा। एक शिक्षक पति ने पत्नी की निर्मम हत्या कर दी। पति ने पहले तो पत्नी के सिर पर पत्थर दे मारा उसके बाद भी क्रोध की ज्वाला शांत नहीं हुई और उसने पेट्रोल छिड़ककर आग के हवाले कर दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी फरार हो गया है।  

यह घटना शाहपुरा गांव की है, जहां शुक्रवार की सुबह शिक्षक वालसिंह ने अपनी पत्नी शिक्षिका जसमा बाई की निर्मम हत्या कर दी। वालसिंह ने पहले जसमा के सिर पर पत्थर मारा और फिर उस पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी। महिला को गंभीर हालत में निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां जसमा ने दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि चरित्र शंका को लेकर पति ने पत्नी के साथ वारदात को अंजाम दिया है। पत्नी को मारने के बाद वालसिंह फरार हो गया है, बहरहाल पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है।

मध्य प्रदेश

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

 

विधायक बोले- जिला प्रशासन के अधिकारियों के रवैये से हूँ परेशान 

शराब ठेकेदार ने 20 लाख घूस लेने का लगाया आरोप 

भोपाल। कांग्रेस विधायक ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर इस्तीफे की पेशकश कर दी है। दरअसल धार जिले के धरमपुरी विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस विधायक पांचीलाल मेड़ा ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को इस्तीफे की पेशकश की। विधायक मेड़ा शराब ठेकेदार से हुए विवाद और उसके बाद पुलिस की भूमिका से खफा थे।

पांचीलाल मेड़ा के इस्तीफे की सूचना सोशल मीडिया पर वायरल होते ही डैमेज कंट्रोल शुरू हुआ और पांच घंटे के सियासी ड्रामे के बाद उन्हें मना लिया गया। इस्तीफे की पेशकश का पत्र शुक्रवार सुबह सोशल मीडिया पर वायरल होते ही कमलनाथ सरकार उन्हें मानने में जुट गई थी। 

गौरतलब है कि मेड़ा का 26 मार्च को एक शराब ठेकेदार से विवाद हुआ था। विवाद में मारपीट की घटना हुई और मामला थाने तक पहुंच गया। थाने में जब मेड़ा को कथित रूप से बैठा लिया गया तो विधायक ने कांग्रेस सरकार होने पर भी उनकी सुनवाई नहीं होने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिखकर इस्तीफे की पेशकश कर दी। ड्रामे की शुरुआत दोपहर करीब 12 बजे शुरू हुई जब विधायक विश्रामगृह में मेड़ा का पक्ष जानने मीडिया के लोग पहुंचे। मेड़ा अपने आवास से बाहर आए तो मीडिया से उन्होंने कहा कि- 'जिला प्रशासन के अधिकारियों के रवैये से परेशान हूं। मैं पूरी बात अध्यक्ष को बताऊंगा। वे कुछ और बोलते इसके पहले तोमर ने उनका मुंह दूसरी तरफ मोड़ा और अपने साथ बाहर ले गए। मंत्रियों ने मेड़ा को अपनी गाड़ी में बैठाया और मानस भवन ले गए।'

इस मामले में सांसद कांतिलाल भूरिया ने बताया कि- पांचीलाल मेड़ा का मामला सुलझ गया है। उनके साथ हुई घटना के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। आचार संहिता लागू है। यह आदिवासी समाज का अपमान है। उनकी भी मुख्यमंत्री से इस मुद्दे पर बात हुई है।’

शराब ठेकेदार शैलेंद्र जायसवाल का कहना है कि-‘मेरे पार्टनर गुलबदन सिंह से विवाद हुआ था। मेड़ा ने दुकान चलाने के एवज में 20 लाख रुपए की मांग की थी। विधायक प्रतिनिधि अनिल आर्य ने गुलबदन सिंह और अन्य लोगों से मारपीट की। हमने पुलिस थाने में शिकायत की है लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।’

मध्य प्रदेश

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

जबलपुर। लोकसभा चुनाव के लिए लाई गई ईवीएम और वीवीपैट मशीनों में खराबी पाई गई है। प्राथमिक जांच में 1751 ईवीएम और वीवीपैट मशीनों में गड़बड़ी पाई गई है। ईवीएम की गड़बड़ी जांच करने इनकी निर्माता कंपनी भारत इलेक्ट्रॉनिक लिमिटेड को वापस बेंगलुरू भेजा जा रहा है। चुनाव अधिकारियों की टीम मशीनों को लेकर बेंगलुरू लेकर रवाना होगी।

दरअसल शहडोल और जबलपुर संभाग के जिलों में फस्ट लेवलकिंग में तकनीकी खराबी मिली है। आम चुनाव से पहले ईवीएम मशीन में बड़ी तकनीकी खामी सामने आई है। इन मशीनों की जब प्राथमिक जांच की गई तो इसमें गड़बड़ी मिली है। खराब मशीनों की संख्या तकरीबन 1700 से ज्यादा है। जबलपुर और शहडोल संभाग के जिलों की ईवीएम की बेलट यूनिट, कंट्रोल यूनिट और वीवीपैट में टेक्नीकल खामियां मिलने के बाद इन्हें जबलपुर के मएलबी स्कूल से बेंगलुरू वापस भेज दिया गया है।

बता दें कि ये मशीनें जबलपुर संभाग के जबलपुर, कटनी, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा, सिवनी, मंडला, डिंडौरी और बालाघाट जिले में मतदान के लिए संभाग मुख्यालय लायी गई थी। शहडोल संभाग के शहडोल, उमरिया और अनूपपुर जिले की ईवीएम मशीनों में खामियां मिली हैं। इनमें 113 बेलट यूनिट, 270 कंट्रोल यूनिट और 1332 वीवीपेट मशीनें भी शामिल हैं। इन्हें भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड बेंगलुरू को वापस करने की जिम्मेदारी अतिरिक्त तहसीलदार गोरखपुर दिलीप चौरसिया को दी गई है।

The Voices FB