मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

जुड़वा बच्चों के अगवा के बाद हत्या के मामले में दो अधिकारियों सहित चार पुलिसकर्मी सस्पेंड 

भोपाल। मध्यप्रदेश के चित्रकूट से अगवा हुए जुड़वा बच्चों की हत्या से पूरे राज्य में आक्रोश है। 12 दिन तक अगवा बच्चों का कोई सुराग नहीं मिलने पर मध्य प्रदेश पुलिस पर लापरवाही के आरोप लग रहे हैं। सोमवार को पुलिस प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई करते हुए दो अधिकारियों समेत 4 पुलिसवालों को सस्पेंड कर दिया गया। इधर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने डीजीपी से 12 दिन तक पुलिस की कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी है। सतना एसपी संतोष सिंह गौड़ ने बताया कि चित्रकूट पुलिस स्टेशन इंचार्ज केपी त्रिपाठी, सब इंस्पेक्टर सुधांशु तिवारी, हेड कॉन्स्टेबल शिव प्रसाद बागरी और कॉन्स्टेबल चंद्रकांत को अगवा बच्चों की जांच-पड़ताल में लापरवाही बरतने के मामले में सस्पेंड किया गया है।  जांच के लिए गठित की गई नई एसटीएफ यूनिट मध्यप्रदेश के डीजीपी वीके सिंह ने बताया कि सतना और रीवा के लिए नई एसटीएफ यूनिट गठित की गई है। इनकी मदद से अपराध से जुड़ा डेटा, जैसे लोकेशन का पता वगैरह स्थानीय स्तर पर लगाया जा सकेगा। फिरौती की पहली कॉल आते ही हमें सुराग मिलने शुरू हो गए थे। जब बच्चों के पिता ने उनसे बात की तो चीजें और साफ हो गई, लेकिन हम बच्चों की सुरक्षा की मद्देनजर सावधानी से कदम रख रहे थे, लेकिन जब बच्चे नहीं लौटे तो हमने कार्रवाई शुरू की। मुख्यमंत्री ने इंसाफ का दिलाया भरोसाकमलनाथ ने कहा है कि डीजीपी को 12 दिन तक पुलिस की अपहरण मामले में जांच पड़ताल की रिपोर्ट की जांच करने को कहा है। अधिकारियों को पता होना चाहिए कि पुलिस ने 12 दिन तक क्या किया ? साथ ही अधिकारियों की इसमें क्या भूमिका थी और अगर जांच पड़ताल में किसी तरह की लापरवाही हुई है तो दंड सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि वह गिरफ्तार किए गए आरोपियों की विशेष राजनीति पार्टी की विचारधारा से जुड़े होने पर विवाद खड़ा करना नहीं चाहते हैं। बच्चों के पिता से बात करने के बाद मैं रातभर बेचैन रहा। मुझे इसकी चिंता नहीं है कि आरोपी कौन थे या किससे जुड़े थे या उनकी कार में किस पार्टी का झंडा लगा था या उनकी गाड़ी पर क्या लिखा था, वो कहां से रहने वाले थे, पड़ोसी राज्य की क्या भूमिका थी, किस जगह उन्होंने घटना को अंजाम दिया था। उन्होंने कहा कि उन्होंने जुड़वा बच्चों के परिवार को न्याय दिलाने का वादा किया है।

मध्य प्रदेश

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम डॉ रमन सिंह ने शिवराज सिंह से मुलाकात की 

भोपाल ।
प्रदेश की मौजूदा कांग्रेस सरकार को विपक्षी दल के प्रमुख नेता और पूर्व सीएम ने आड़े हाथों लिया है। शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि   प्रदेश में कांग्रेस की ढाई सीएम की सरकार चल रही है, इसमें एक सीएम है, एक सुपर सीएम है और एक सुपर-सुपर सीएम है। सरकार के हालात ऐसे हो गए हैं कि एक अधिकारी कर्मचारी का ट्रांसफर करता है, तो दूसरा उसे निरस्त करा रहा है। चौहान ने मंडीदीप में आयोजित विदिशा-रायसेन संसदीय क्षेत्र के भाजपा बूथ लेवल कार्यकर्ता सम्मेलन को सं‍बोधित करते हुए ये बातें कही। 


शिवराज सिंह ने कहा कि किसानों की फसलों पर ओले पढ़ रहे हैं, पाला पड़ रहा है, किसान परेशान है, लेकिन मुख्यमंत्री सरकार के मंत्री और विधायकों को किसानों की सुध लेने की फुर्सत नहीं है। कार्यक्रम को इससे पूर्व प्रदेश सरकार में मंत्री रहे और वर्तमान में सिलवानी से विधायक रामपाल सिंह, भोजपुर विधायक सुरेन्द्र पटवा, करण सिंह वर्मा सहित विदिशा संसदीय क्षेत्र के भाजपा विधायकों ने सं‍बोधित किया।

The Voices FB