By मनोज यादव

कोरबा। मानिकपुर कोयला खदान में निजी कंपनी के अधीन काम कर रहे चालक-परिचालकों ने अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन किया। एसईसीएल उप महाप्रबंधक कार्यालय के बाहर सब एकत्रित होकर अधिकारियों को अपनी समस्याओं और मांगों से अवगत कराया। चालक-परिचालकों की मानें तो निजी कंपनी द्वारा उनके काम के अनुरूप समान वेतन और सुविधा मुहैया नहीं कराया जा रहा है, इसके चलते वे प्रदर्शन करने को मजबूर हैं। 

WhatsApp Image 2018 10 11 at 6.47.21 PM 1

एसईसीएल के मानिकपुर खदान में एक निजी कंपनी को ठेके में मिट्टी डंपिंग का काम दिया गया है। यहां के वाहन के कर्मचारीयों का आरोप है कि उन्हें काम के बदले समान वेतन और सुविधा नही दिए जाते हैं। इन बातो को लेकर वो एसईसीएल के उप महाप्रबन्धक कायार्लय के जवाबदार अधिकारियों के समक्ष रखने आये हैं। लोगों ने बताया कि लंबे समय तक कंपनी में काम कर रहे हैं, लेकिन जवाबदार अधिकारी और कंपनी उनकी बातों पर ध्यान दे रहे हैं।

लोगों ने बताया कि तीन शिफ्ट में काम करते हैं और काम के दौरान उन्हें खाना,  नास्ता और यहां तक कि शौच करने जाने पर कंपनी की तरफ से मनाही है। महीने में चार दिनों का अवकाश भी नही दिया जाता है। ऐसे में उनके साथ केवल शोषण किया जा रहा है। अगर बहुत जल्द उचित कदम नही उठाया गया, तो एक दिन उग्र आंदोलन किया जाएगा।