रायपुर। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि यह आम चुनाव अनिल अंबानी और गौतम अडानी के भारत और गरीब, मजदूर, किसानों, छोटे व्यापारियों, उद्योग धंधे चलाने वालों नौजवानों, गृहणियों के भारत के बीच का चुनाव है। एक ओर नरेन्द्र मोदी हैं, जिन्‍होंने अंबानी की दीवालिया हो रही कंपनियों को राफेल का ठेका दिलाने के लिये देश की रक्षा जरूरतों से भी समझौता कर लिया। दूसरी ओर राहुल गांधी हैं, जिन्होंने इस रक्षा घोटाले को और देश की रक्षा जरूरतों के साथ मोदी सरकार के खिलवाड़ को उजागर किया है।

उन्‍होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल की सरकार देश की अकेली सरकार है, जो 2500 रू. प्रति क्विंटल दे रही है और किसानों को लागत मूल्य पर 50% से अधिक लाभ दे रही है, तो मोदी सरकार उसी छत्तीसगढ़ की ऐसी किसान हितैषी सरकार को निहित राजनैतिक स्वार्थों के चलते हतोत्साहित करने में लगी है।



प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि रमन सिं सरकार में बस्तर में जो हालात थे, किसी से छिपा नहीं है। बस्तर में लगातार आम लोगों को और बस्तर के गरीब लोगों को गांव में रहने वालों को भाजपा की सरकार के द्वारा प्रताड़ना का शिकार बनाया जा रहा था। इस पुलिस प्रताड़ना इस अत्याचार को दुनिया की आंखों से छुपाए रखने के लिए रमन सिंह की सरकार ने बस्तर की वास्तविक स्थिति को उजागर करने वाले पत्रकारों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के ऊपर झूठे मुकदमें बनाने की साजिश रची, ताकि उनको बस्तर आने और रमन सिंह सरकार के आंतक की सच्चाई उजागर करने से रोका जा सके। कांग्रेस ने जिम्मेदार विपक्ष की भूमिका निभाते हुये उस समय भी लगातार इस बात को राज्य में और राष्ट्रीय मंच पर भी उजागर किया। इस साजिश का पर्दाफाश अब हुआ है। अब चालान में यह बात सामने आई है कि जिन लोगों के खिलाफ कोई सबूत नहीं ऐसे लोगों को भी भाजपा सरकार की पुलिस ने आरोपी बनने की कोशिश की ताकि आतंक का राज जारी रखा ला सके। जो दोषी नहीं है उनके विरुद्ध मुक़दमें हटाए जाने का कांग्रेस स्वागत करती है और आशा करती है कि इससे न केवल बल्कि पूरे छत्तीसगढ़ में और आगे चलकर लोकसभा चुनाव के बाद पूरे देश में एक बेहतर वातावरण बन सकेगा।