नई दिल्ली। चीन में कम्युनिस्ट शासन की स्थापना को 1 अक्टूबर को 70 साल पूरे हो गए हैं। बीजिंग में मंगलवार को जोरशोर से इसका जश्न मनाया जा रहा है। इस मौके पर बढ़ती राजनीतिक और आर्थिक चुनौतियों के बीच चीन की सेना ने भव्य परेड निकालकर दुनिया में अपनी महत्वकांक्षी नीतियों की झलक दिखाई। अपने मुख्य हथियारों को छिपाकर रखने वाले चीन ने इस परेड में नई परमाणु और हाइपरसोनिक मिसाइलों का प्रदर्शन किया। नेशनल डे परेड में चीन ने एक ऐसी मिसाइल भी दिखाई, जो अमेरिका जैसे बड़े देश को महज 30 मिनट में तबाह कर सकती है। वहीं भारत को तबाह करने में सिर्फ 10 से 15 मिनट लगेंगे।

चीन के हाइपरसोनिक मिसाइल DF-41 (डोंगफेंग-41) को धरती का सबसे शक्तिशाली मिसाइल माना जा रहा है। DF-41 की रेंज 9,320 मील (15 हजार किलोमीटर) तक की है। दुनिया का ये सबसे शक्तिशाली मिसाइल एक साथ 10 परमाणु हथियारों को कैरी कर सकती है। एक ही बार में 10 टारगेट को हिट कर सकती है। ये ठोस ईंधन से चलने वाली, रोड-मोबाइल, अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक परमाणु मिसाइल है।