हेल्थ डेस्क | विश्व नारियल दिवस, सुनने में थोड़ा मज़ाकिया लग सकता है, मगर आज 2 सितम्बर को नारियल दिवस है. इसकी शुरुआत साल 2009 में हुई थी. यह दिन APCC, एशियाई प्रशांत नारियल समुदाय ( Asian pacific Coocnut community ) नाम के अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की स्थापना दिवस के तौर पर मनाया जाता है, भारत भी इसमें शामिल है. इसका उद्द्येश विश्वभर में नारियल उद्योग को बढ़ावा देना है.

नारियल के कई गुणकारी विशेषताओं की वजह से इसे एक औषधि का दर्जा भी दिया जाता है, नारियल का पानी शरीर में पानी की कमी को दूर करने का सबसे आसान तरीका है,.मगर नारियल की खूबी बस यहाँ तक सीमित नहीं है.

एक्सपर्ट्स के मुताबिक नारियल इम्युनिटी बढ़ाने के काम आ सकता है. शरीर के इम्यून सिस्टम यानि रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए व्यक्ति को कच्चे नारियल का सेवन करना चाहिए. नारियल में भारी मात्रा में एंटी-बैक्टेरियल, ऐंटी-वाइरल, एंटी - पैरासाइडिक गुण होते हैँ, जो शरीर में संक्रमण को आने से रोकते है और शरीर को गंभीर बिमारियों से दूर रखने में मदद करते हैँ.

इसके आलावा नारियल बालों को स्वास्थ और त्वचा को निखारने में भी लाभदायक होता है. ये हड्डियों को भी मजबूत करता है कहते हैँ नारियल खाने से भूख कम लगती है. डाइबिटीज के मरीजों को रोज़ाना कच्चे नारियल का सेवन करना चाहिए, ये शरीर में शुगर की मात्रा को भी नियंत्रित करता है.