BY उदय मिश्रा

राजनांदगांव।  नवरात्र पर्व के बीच विकास खंड शिक्षा अधिकारी ने स्कूलों और आश्रमों में पूजा-पाठ नहीं मनाने के आदेश जारी करने के 24 घंटे के अंदर यू-टर्न लेते हुए उसे वापस ले लिया है। विकास खंड शिक्षा अधिकारी (बीडीओ) ने अपने आदेश को विलोपित करते हुए स्कूलों और आश्रमों में बच्चों को पूजा पाठ करने के लिए छूट दे दी है। विकास खंड शिक्षा अधिकारी ने मंडल प्रबंधक के आदेश को लागू किया था। अब मंडल प्रबंधक से 2 दिन के अंदर जवाब मांगा है।

दरअसल विकास खंड शिक्षा अधिकारी नरेंद्र कुमार निरापुरे के निर्देश में मंडल संयोजक दिलेश्वर वर्मा ने स्कूलों और आश्रमों में पूजा-पाठ नहीं करने का आदेश जारी किया था। आदेश में शासकीय संस्थाओं में देवी देवताओं की पूजा अर्चना अथवा प्रतिष्ठा ना करने की नसीहत दी गई थी। किसी के द्वारा ऐसा करने पर यह दंडनीय अपराध माना जायेगा और उसके विरुद्ध कार्रवाई की बात कही थी। आदेश को कलेक्टर तक ने सही बताया था।

हालांकि 24 घंटे के अंदर विकास खंड शिक्षा अधिकारी ने अपने ही आदेश को विलोपित करते हुए नया आदेश जारी किया है।