वॉशिंगटन। अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति जो बाइडेन ने सबसे ज्यादा किसी चीज को अहम बताया है वह है एकता। बुधवार को शपथ लेने के बाद अपने पहले भाषण में बाइडेन ने उन मूल्यों की जरूरत बताई जिनका विरोधी होने के आरोप पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को माना जाता था। ट्रंप ने पद पर काबिज होने से पहले नारा दिया था 'मेक अमेरिका ग्रेट अगेन' लेकिन अपने कार्यकाल के आखिरी साल में उनके ऊपर समाज को विभाजित करने के आरोप खूब लगे। वहीं, बाइडेन ने मेक अमेरिका 'एक' अगेन के तर्ज पर एकजुट होने की बात की है।

 जो बाइडन का ये ऐतिहासिक भाषण भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक विनय रेड्डी ने तैयार किया है। जो एकता और सौहार्द पर आधारित रहा। 

भारत के तेलंगाना के हुज़ूराबाद मंडल के पोतिरेड्डीपेटा गांव के रहने वाले नारायण रेड्डी के बेटे विनय रेड्डी ने अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन का पहला भाषण लिखा है. उन्हें व्हाइट हाउस के भाषण निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है, जिसे लेकर भारत का सिर गर्व से ऊंचा हो गया है. बता दें कि विनय रेड्डी का जन्म अमेरिका में हुआ है, लेकिन बचपन में उनका अपने गांव में आना-जाना होता था. 

जानकारी के अनुसार पेशे से डॉक्टर विनय रेड्डी के पिता नारायण रेड्डी 1970 में अमेरिका चले गए थे और वहीं बस गए थे. विनय रेड्डी का जन्म और पालन पोषण अमेरिका में हुआ. हालांकि, उनके परिवार का अपने गांव और तेलंगाना से नाता जुड़ा रहा है.विनय रेड्डी के पिता नारायण रेड्डी और उनकी पत्नी विजया रेड्डी हर छह महीने में गांव जाते हैं और रिश्तेदारों और पुराने दोस्तों से मिलते हैं. विनय रेड्डी के दादा तिरुपति रेड्डी ने 30 साल तक पोतिरेड्डीपेटा गांव के सरपंच के रूप में सेवा की, जबकि गांव में स्कूली शिक्षा पूरी करने वाले नारायण रेड्डी ने हैदराबाद में MBBS किया और अमेरिका चले गए.

जो बाइडेन की टीम इंडिया के ये हैं सदस्य….

अमेरिका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन प्रशासन के अहम पदों पर 20 भारतीय अमेरिकियों को नामित किया गया है. इनमें कम से कम 17 भारतीय शक्तिशाली व्‍हाइट हाउस में अहम पद संभालेंगे, जिनमें से अहम पदों पर 13 महिलाएं भी शामिल हैं.  यह भारत के लिए गौरव की बात है. बाइडन प्रशासन में सबसे ऊपर नीरा टंडन और डॉ विवेक मूर्ति का नाम है. बाइडन प्रशासन में इनकी अहम भूमिका होगी.

1-नीरा टंडन-बिडेन सरकार में नीरा टंडन को बड़ी जिम्मेदारी दी गई है. टंडन को व्हाइट हाउस आफिस के मैनेजमेंट एवं बजट का निदेशक बनाया गया है.

2-विवेक मूर्ति-यूएस के सर्जन जनरल.

3-उजरा जेया-सिविलयन सेक्युरिटी, डेमोक्रेसी, ह्यूमन राइट्स की अंडर सेक्रेटरी.

4-माला अडिगा-बिडेन की पत्नी जिल की पॉलिसी डाइरेक्टर.

5-गरिमा वर्मा-जिल बिडेन के ऑफिस की डिजिटल डाइरेक्टर.

6-वनिता गुप्ता-एसोसिएट जनरल डिपार्टमेंट ऑफ जस्टिस.

7-सबरीना सिंह-जिल बिडेन की डेप्युटी प्रेस सचिव.

8-आइशा शाह-व्हाइट हाउस डिजिटल स्ट्रेटजी की पार्टनरशिप मैनेजर.

9-भरत राममूर्ति-व्हाइट हाउस नेशनल इकोनॉमिक काउंसिल के डिप्टी डायरेक्टर.

10-समीरा फजिली-यूएस नेशनल इकोनॉमिक काउंसिल में डिप्टी डायरेक्टर.

11-गौतम राघवन-व्हाइट हाउस के प्रेसिडेंसियल पर्सनल विभाग में डिप्टी डायरेक्टर.

12-विनय रेड्डी- डायरेक्टर स्पीचराइटिंग.

13-तरुण छाबड़ा-प्रौद्योगिकी एवं राष्ट्रीय सुरक्षा पर वरिष्ठ निदेशक.

14-सुमोना गुहा-दक्षिण एशिया के लिए सीनियर डायरेक्टर.

15-शांति कलाथिल-लोकतंत्र एवं मानवाधिकार की संयोजक.

16-वेदांत पटेल-राष्ट्रपति के असिस्टेंट प्रेस सेक्रेटरी.

17-सोनिया अग्रवाल-जलवायु नीति एवं नवाचार पर वरिष्ठ सलाहकार.

18-विदुर शर्मा-कोविड रिस्पांस टीम में पॉलिसी एडवाइजर.

19-रीमा शाह-व्हाइट हाउस में डिप्टी एसोसिएड काउंसिल.

20-नेहा गुप्ता-व्हाइट हाउस में एसोसिएट काउंसिल.