नई दिल्ली। मेट्रो किराए में वृद्धि के विरोध में भड़की हिंसा में अभी तक आठ लोगों की मौत हो गई। यह घटना लैटिन अमेरिकी देश चिली की है, जहाँ रविवार को राजधानी सैंटियागो के रेंका इलाके में फायर ब्रिगेड की टीम ने राख में तब्दील हो चुके कपड़े की एक दुकान से पांच लाश निकाली। इससे पहले तीन लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चारों तरफ भड़की हिंसा को देखते हुए देश में आपातकाल को बढ़ा दिया गया है। राजधानी समेत पांच शहरों में शनिवार सुबह से आपातकाल लागू है। चिली में पिछले कुछ दिनों से हिंसा, लूट व आगजनी की घटनाएं बदस्तूर जारी हैं। रविवार को भी प्रदर्शनकारियों व सुरक्षाबलों के बीच खूनी झड़पें देखने को मिलीं।

चिली के राष्ट्रपति सेबेस्टियन पीनेरा ने रविवार को कहा, 'हमारी जंग एक शक्तिशाली व निर्मम दुश्मन से है, जो हिंसा के जरिये तबाही मचाने पर आमदा है। इन लोगों (दुश्मन) ने लोकतांत्रिक देश चिली के नागरिकों के विरूद्ध युद्ध छेड़ रखा है।'

देश में भड़की हिंसा के मद्देनजर रविवार शाम को चिली की संसद के निम्न सदन ने बढ़े मेट्रो किराए को वापस लिए जाने का बिल पास कर दिया है। इसे अब अनुमोदन के लिए सीनेट भेजा जा रहा है। बता दें कि मेट्रो प्रशासन ने किराया 1.13 डॉलर (करीब 80 रुपये) से बढ़ाकर 1.17 डॉलर (करीब 83 रुपये) कर दिया था, जिसके बाद देश में हिंसा शुरू हो गई।