दुनिया

दुनिया

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

नई दिल्ली देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विदेशी निवेश की पैरवी करते हुए लगातार कह रहे हैं कि विदेशी कंपनियां मेक इन इंडिया में निवेश करने के लिए आगे आएं। इससे भारत को मैन्यूफैक्चरिंग हब बनने में मदद मिलेगी वहीं युवाओं के लिए रोजगार के अवसर भी सृजित होंगे। वहीं इससे उलट अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अपनी कंपनियों से बार-बार अमेरिका वापस बुलाने का आह्वान कर रहे हैं। उनका कहना है कि ये कंपनियां मेक अमेरिका, ग्रेट अगेन अभियान का हिस्सा बनें।

इसके अलावा अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मेरीलैंड में कंजरवेटिव पॉलिटिकल एक्शन कान्फ्रेंस (सीपीएसी) में सवाल किया- क्या भारत हमें बेवकूफ समझता है? ट्रम्प ने कहा कि वह बताना चाहते हैं कि सारा विश्व अमेरिका का सम्मान करता है। हम एक देश को अपने सामान पर 100 टैरिफ दें और उनके इसी तरह के सामान पर हमें कुछ न मिले, यह सिलसिला अब आगे नहीं चलेगा।

ट्रम्प ने कहा है कि भारत में टैरिफ की दरें बहुत ज्यादा हैं। अमेरिका से जाने वाली एक बाइक पर भारत 100 फीसद टैरिफ वसूलता है, जबकि वहां से आने वाले इसी तरह के सामान पर अमेरिका कोई टैक्स नहीं लेता। उन्होंने कहा कि हम भी भारत से आने वाले सामानों पर इसी अनुपात में टैरिफ लगाएंगे। लगभग 5.6 अबर डॉलर (40 हजार करोड़) रुपए का सामान अमेरिका में निर्यात करने पर टैरिफ में रियायत दी जाती है। 1970 में बनाई गई योजना के तहत लाभ पाने वाला भारत विश्व का सबसे बड़ा देश है।

ख़ास ख़बर

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

एक प्रेस कान्‍फ्रेंस में वायु सेना प्रमुख बीएस धनोआ कहा कि- अगर हमारे टारगेट सहीं नहीं लगे, तो पाकिस्‍तान की ओर से क्‍यों आता जवाब

नई दिल्‍ली। वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने कहा है कि वायुसेना को सिर्फ टारगेट मिलता है जिसे हम हिट करते हैं। हम आपको ये नहीं बता सकते हैं कि उसके अंदर कितने लोग मौजूद थे। अगर हमने जंगल में बम गिराए हैं तो पाकिस्तान ने रिस्पॉन्स क्यों किया।

सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए धनोआ कहा कि अगर हमारे टारगेट सही नहीं लगे हैं और सिर्फ जंगल में बम गिराए होते तो पाकिस्तान की ओर से जवाब क्यों आता। पुलवामा आतंकी हमले के जवाब में पाकिस्तान में घुसकर की गई एयरस्ट्राइक पर वायुसेना की ओर से बड़ा बयान आया है। शुक्रवार को वायुसेना चीफ एयर मार्शल बीएस धनोआ ने कहा था कि वायुसेना का काम अपने टारगेट को हिट करना है। हम ये नहीं गिनते की वहां कितना नुकसान हुआ है। उन्होंने दो टूक कहा कि हमें जो भी टारगेट मिलता है हम सिर्फ उसे ही तबाह करते हैं।

आपको बता दें कि 26 फरवरी की सुबह वायुसेना के मिराज विमानों ने पाकिस्तान में घुसकर जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर एयरस्ट्राइक की थी। वायु सेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में जाकर आतंकी ठिकानों को हिट किया। ये हमला 14 फरवरी को जैश-ए-मोहम्मद के द्वारा पुलवामा में किए गए आतंकी हमले का जवाब था, जिसमें 40 जवान शहीद हुए थे।

Tags: ,

The Voices FB