भोपाल। मैनिट में बीटेक फोर्थ ईयर के छात्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मूलतः सिंगरौली का रहने वाला था। छात्र के कमरे से पुलिस ने सुसाइड नोट बरामद किया है। पांच लाइन के सुसाइड नोट में छात्र ने लिखा कि वह मानसिक रूप से परेशान होकर यह कदम उठा रहा है। इसके लिए कोई जिम्मेदार नहीं है। इसके लिए उसने माता-पिता, दोस्तों और परिचितों से माफी भी मांगी है।

कमला नगर थाना प्रभारी विजय सिसौदिया ने बताया कि युवक बीटेक फोर्थ ईयर का छात्र था। वह बी ब्लॉक में हॉस्टल नंबर-10 में रहता था। उसके साथ सिंगरौली निवासी सुजीत सहाय रहता है। दोनों बचपन के दोस्त हैं और 11 वीं क्लास से साथ में ही पढ़ रहे थे। दोनों को मैनिट में एक ही साथ प्रवेश मिला था। गुरुवार दोपहर करीब 12 बजे सुजीत कॉलेज से हॉस्टल में गया था। वहां सुजीत ने कई बार कमरे का दरवाजा खटखटाया लेकिन अंदर से रीतेश का कोई जबाव नहीं आया। दोस्तों ने कमरे में झांका तो रीतेश पंखे से फांसी के फंदे पर लटका था। सुजीत ने अन्य दोस्तों की मदद से दरवाजा तोड़ा और फंदा काटकर रीतेश को माता मंदिर स्थित एक निजी अस्पताल ले गए। वहां उसकी स्थिति नाजुक थी। शुक्रवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे डॉक्टरों ने रीतेश को मृत घोषित कर दिया।