रायपुर। एक व्यक्ति द्वारा गैर धर्म का होने के कारण जोमैटो के फूड डिलीवरी बॉय से खाना न लेने के मामले में सोशल मीडिया के कुछ पेज में एक सन्देश जमकर वायरल हो रहा है, जिसमें लिखा है कि- ‘जोमैटो के मालिक ने कहा है हिन्दूओं के बिना भी हमारा व्यापर चलता रहेगा  #zomato का बहिस्कार करें।’

वहीं दूसरी ओर ऑनलाइन फूड डिलिवरी करने वाली कंपनी जोमैटो ने अपने एक ग्राहक के धार्मिक भेदभाव वाले रवैए का जिस तरह से मुकाबला किया है, उसे सोशल मीडिया पर खूब समर्थन मिल रहा है।

दरअसल यह मामला जबलपुर का है, जहाँ ऑनलाइन बुकिंग के बाद घर भेजे गए भोजन को अमित शुक्ला नामक शख्‍स ने सिर्फ इसलिए नहीं लिया, क्योंकि उसे देने गैर हिंदू आया था। उसने धर्म का वास्ता देकर ऑर्डर कैंसिल कर दिया। यही नहीं अमित ने इसे लेकर ट्वीट भी किया। जवाब में भोजन की सप्लाई करने वाली जोमैटो कंपनी ने भी ट्वीट किया। जोमैटो ने लिखा- ‘भोजन का कोई धर्म नहीं होता है। भोजन खुद एक धर्म है। जोमैटो का जवाब वायरल हो गया।’

;

इस मामले को लेकर सोशल मीडिया पर जारी बहस के बीच 'जोमैटो' के डिलिवरी ब्वॉय फैयाज ने अपना रिएक्शन दिया है। फैयाज ने इस पूरे घटनाक्रम के बाद कहा- "इस घटना से मुझे काफी दुख पहुंचा है लेकिन मैं क्या कर सकता हूं। हम काफी गरीब लोग हैं और हमारे साथ ऐसा होता रहता है।" बता दें कि अमित शुक्ला नाम के एक यूजर ने फैयाज के गैर हिंदू राइडर होने की वजह से अपना जोमैटो का ऑर्डर कैंसल कर दिया था।

इस मामले में एसपी ने बताया कि संबंधित व्‍यक्ति को नोटिस दिया गया है। इसमें कहा गया है कि संविधान की मूल भावना के खिलाफ वे कोई काम न करें। इसके साथ ही 6 माह तक कोई अप्रिय ट्वीट न करें। यदि ऐसा किया गया तो उन्‍हें जेल हो सकती है।

इस मामले में अमित शुक्ला का कहना है कि-सावन में दिन के समय उपवास रहता है, शाम को खाना खाते हैं। मंगलवार को पत्नी घर पर नहीं थी, इसलिए रात के खाने के लिए जोमैटो में ऑर्डर किया था। लेकिन, डिलीवरी बॉय के गैर हिंदू होने पर आपत्ति दर्ज कराई।’