The Voices

The Voices

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

By धीरज शिवहरे

कोरिया l जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 42जवानों की शहादत के बाद पूरा देश गमगीन है l वहीं इस हमले के विरोध में जिला मुख्यालय बैकुंठपुर में कल आतंकवादी मसूर अजहर और हाफिज सईद का पुतला फूंक शहरवासियों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाएl

इस दौरान स्थानीय जनों में काफी आक्रोश देखने को मिला और दोनो आतंकी के पोस्टरों पर जूते चप्पल बरसाए गए l पदयात्रा कर पाकिस्तान पर कार्यवाही हेतु विरोध प्रदर्शन भी किया गया l इसके अलावा अनेक हिन्दू संगठनों के द्वारा घड़ी चौक पर इस हमले में शहीद जवानों को मोमबत्ती जलाकर समस्त संगठन व शहरवासियों ने श्रद्धांजलि अर्पित की l यह विरोध प्रदर्शन कोरिया जिले के चरचा, पटना,पंडोपारा व कई स्थानों पर किया गया l

वन विभाग देवगढ़ के अधिकारी व कर्मचारियों ने दी श्रद्धांजलि

पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले में शहीद जवानों को आज वनपरिक्षेत्र देवगढ़ के रेंजर व समस्त कर्मचारियों ने मोमबत्ती जलाकर 2 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी l

The Voices

User Rating: 5 / 5

Star ActiveStar ActiveStar ActiveStar ActiveStar Active

पत्रकार सुरक्षा कानून को लेकर रायपुर में हुआ कार्यक्रम
रायपुर । कल्‍लूरी जब बस्‍तर आईजी थे मुझ से कहते थे ये पत्रकार मेरे टुकड़ों में पलते हैं, मुझे कहते थे प्रेस कांफ्रेंस करती होना, मैं शाम को यहां टेबल में खाना देता हूं पत्रकारों को। मैं ऐसी चीजें नहीं सुनना चाहती पत्रकारों के खिलाफ, पत्रकारिता एक बड़ी ताकत है, जनता को सच्‍चाई दिखाने का आइना है, मेरी बात को नहीं दिखाते पत्रकार तो मैं आज आपके बीच नहीं होती - ये बातें कहीं आम आदमी पार्टी की बस्‍तर से नेता सोनी सोरी ने। 


मौका था पत्रकार सुरक्षा कानून को लेकर रायपुर में रखे गए एक कार्यक्रम का। यहां पत्रकारिता और मानवाधिकार से जुड़े देश और प्रदेश के कई नामचीन चेहरे पहुंचे थे। गॉस मेमोरियल हॉल में हुए इस कार्यक्रम में पत्रकार सुरक्षा कानून के ड्राफ्ट पर बुध्दिजीवियों ने अपनी बातें रखीं।

 
यहां सीएएजे के अभिषेक श्रीवास्‍तव, पत्रकार सुरक्षा समिति के कमल शुक्‍ला, पीयूसीएल के डॉ लाखन सिंह, सीपीजे के कुनाल मजुमदार ने अपनी बातें रखीं। वरिष्‍ठ पत्रकार ललित सुरजन ने कहा कि पत्रकारों की कानूनी सुरक्षा के साथ ही फायनेंशियली सुरक्षा का ध्‍यान भी रखा जाना चाहिए। यहां हुए सेशंस में आनंद स्‍वरूप वर्मा, संपादक समकालीन तीसरी दुनिया, एनडीटीवी के लिए पत्रकारिता कर चुके हृदेश जोशी, सुहाश मुंशी, अजय प्रकाश मिश्रा, अतुल चौरसिया, सौरभ वाजपेयी जैसे मशहूर लोगों ने अपनी राय रखी। सभी ने पत्रकारिता को पहले से ज्‍यादा सुरक्षित और स्‍वतंत्र करने की मांग पर जोर दिया।

पीयूसीएल ने एक ड्राफ्ट तैयार किया जिसे कई कानून विदों और पत्रकारों के अलावा मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के फीडबैक के हिसाब से बनाया गया है। प्रदेश में चूंकि कांग्रेस की सरकार पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने की बात कह रही है, लिहाजा ये ड्राफ्ट सरकार का काम आसान करने की‍ दिशा में कारगर साबित हो सकता है।

The Voices

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive

By पुनेश यादव

कांकेर रेत से भरे हुए ट्रैक्टर की ठोकर से तीन वर्षीय मासूम बच्ची की घटना स्थल पर ही मौत हो गई मासूम बच्ची घर के सामने खेल रही थी और उसी दौरान सामने से आ रही ट्रेक्टर की ठोकर से मासूम के सिर पर गहरी चोट लगी और उसकी मौत हो गई।

मृत बच्ची काम्या कुंजाम मृत बच्ची काम्या कुंजाम

जानकारी के अनुसार रेत से भरा हुआ ट्रैक्टर ग्राम टाहाकापार से जेपरा जा रहा था। उस दौरान 3 वर्ष की बच्ची काम्या कुंजाम अपने घर के पास खेल रही थी। अचानक ट्रैक्टर अनियंत्रित हो गया और मासूम बच्ची को ठोकर मार दी। इस घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने ट्रैक्टर चालक प्रदीप मंडावी को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर चालक और ट्रैक्टर को हिरासत में ले लिया है। बहरहाल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सरकारी अस्पताल भेज दिया है।

Subcategories

The Voices FB